1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. आशीष मिश्रा को जमानत मिलने पर बोले राकेश टिकैत, किसानों की पैरवी कौन करेगा, उनके साथ स्वयं सरकार और वकीलों की फौज

आशीष मिश्रा को जमानत मिलने पर बोले राकेश टिकैत, किसानों की पैरवी कौन करेगा, उनके साथ स्वयं सरकार और वकीलों की फौज

उत्तरप्रदेश के चर्चित लखीमपुर हिंसा मामले के आरोपी और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा को हाईकोर्ट के लखनऊ बेंच से आज जमानत मिल गई है। उनको जमानत मिलने पर किसान नेता राकेश टिकैत ने बड़ा बयान दिया है। राकेश ने एक बड़े टीवी चैनल को दिये फोनो में कहा कि ''कोर्ट पर क्या कह सकते हैं, बेल दे दी।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

लखनऊ। उत्तरप्रदेश के चर्चित लखीमपुर हिंसा मामले के आरोपी और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा को हाईकोर्ट के लखनऊ बेंच से आज जमानत मिल गई है। उनको जमानत मिलने पर किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने बड़ा बयान दिया है। राकेश ने एक बड़े टीवी चैनल को दिये फोनो में कहा कि ”कोर्ट पर क्या कह सकते हैं, बेल दे दी। हमारा तो यह कहना है कि 302 के इतने गंभीर मामले में दूसरे लोगों को भी बेल मिली हो तो ठीक है, नहीं मिली हो तो देख लो।

पढ़ें :- Rakesh Tikait बोले- सिद्धू मूसेवाला की सिक्युरिटी वापस लिए जाने की हो जांच

”टिकैत ने कहा कि किसानों के पास इतने बड़े वकील तो हैं नहीं, ये बड़े आदमी हैं, इनके साथ सरकार और वकील (Advocate) खड़ी कर सकती है। तो मिल गई होगी, कोर्ट तो तथ्य के आधार पर चलती है, उस तरह की दलील दी होगी उन्होंने। किसानों की कौन पैरवी करेगी। इनके साथ तो शायद 32 वकील थे। ये तो खड़े कर सकते हैं उस तरह के लोग। अब देखेंगे कि इसमें क्या रहा। वहां जो लोग वहां गए होंगे उनसे जानकारी रहेंगे। यह केस हमेशा हमारा रहेगा। यह संयुक्त किसान मोर्चा और देश का रहेगा, जिस तरह हत्या की गई। किसान लड़ाई लड़ रहा है।”

बता दें कि तीन अक्तूबर 2021 को खीरी जिले में हुए उपद्रव के बाद हिंसा में चार किसान सहित आठ लोगों की मौत के मामले में आशीष मिश्र मुख्य आरोपी है। आशीष पर आरोप है कि उसने शांतीपूर्वक प्रदर्शन कर रहे किसानों पर गाड़ी चढ़ा दी थी। और उसके लाइसेंसी बन्दूक से गोली चलाई गई। लखीमपुर पुलिस(Lakhimpur Police) ने आशीष मिश्रा और अंकित दास के लाइसेंसी हथियार जब्त किए थे। सभी हथियारों को 15 अक्टूबर को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...