1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Satyapal Malik बोले- मेरे कार्यकाल में श्रीनगर के 50 किलोमीटर दायरे में आतंकी घुसने से डरते थे, अब तो…

Satyapal Malik बोले- मेरे कार्यकाल में श्रीनगर के 50 किलोमीटर दायरे में आतंकी घुसने से डरते थे, अब तो…

जम्मू और कश्मीर (Jammu Kashmir) में आए दिन आम लोगों की हत्या हो रही है। इन हत्याओं पर कोई विपक्षी दल नहीं बल्कि मेघालय के गवर्नर सत्यपाल मलिक (Satyapal Malik) ने सवाल उठाकर सरकार को कटघरे में खड़ा करने का काम किया है। जम्मू और कश्मीर (Jammu Kashmir) के मौजूदा समय की अपने कार्यकाल से तुलना करते हुए राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Satyapal Malik) ने कहा कि अब तो वो (आतंकी) चुन-चुन कर मार रहे हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। जम्मू और कश्मीर (Jammu Kashmir) में आए दिन आम लोगों की हत्या हो रही है। इन हत्याओं पर कोई विपक्षी दल नहीं बल्कि मेघालय के गवर्नर सत्यपाल मलिक (Satyapal Malik) ने सवाल उठाकर सरकार को कटघरे में खड़ा करने का काम किया है। जम्मू और कश्मीर (Jammu Kashmir) के मौजूदा समय की अपने कार्यकाल से तुलना करते हुए राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Satyapal Malik) ने कहा कि अब तो वो (आतंकी) चुन-चुन कर मार रहे हैं।

पढ़ें :- Delhi MCD Election 2022 : दोपहर 2 बजे तक लगभग 30 फीसदी मतदान, भाजपा ने लगाया धांधली का आरोप

उन्होंने कहा कि ‘जब मैं जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir)  का राज्यपाल था, तब श्रीनगर के 50 किलोमीटर के दायरे में आतंकी घुसने की हिम्मत नहीं कर रहे थे। अब तो लोगों को वो चुन चुन कर मार रहे हैं। बता दें सत्यपाल मलिक (Satyapal Malik) 23 अगस्त 2018 से 30 अक्टूबर 2019 तक जम्मू और कश्मीर (Jammu Kashmir)  के राज्यपाल थे। इन्हीं के कार्यकाल में केंद्र सरकार (Central Government) ने 5 अगस्त 2019 को जम्मू और कश्मीर (Jammu Kashmir)  को केंद्र शासित प्रदेश घोषित (declared a union territoryकिया था। इसी दौरान अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान रद्द किए थे। इसी दौरान केंद्र ने 35ए को पूरी तरह से रद्द कर दिया था।

बता दें कि केंद्र शासित प्रदेश में इस महीने अब तक नागरिकों को निशाना बनाकर की गई गोलीबारी में 11 लोगों की मौत हो चुकी है। रविवार को भी कुलगाम जिले (Kulgam District) में रविवार को आतंकवादियों (Terrorists)  ने दो गैर-स्थानीय मजदूरों की गोली मारकर हत्या कर दी और एक अन्य को घायल कर दिया। जम्मू कश्मीर में 24 घंटे से भी कम समय में गैर-स्थानीय मजदूरों पर यह तीसरा हमला है। बिहार के एक रेहड़ी-पटरी वाले और उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के एक बढ़ई की शनिवार शाम को आतंकवादियों (Terrorists)  ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।

कश्मीर जोन पुलिस (Kashmir Zone Police) ने अपने ट्विटर हैंडल पर कहा, ‘कुलगाम के वानपोह इलाके में आतंकवादियों (Terrorists) ने गैर स्थानीय मजदूरों पर अंधाधुंध गोलियां चलाईं। इस आतंकवादी घटना (Terrorist Incident) में दो गैर स्थानीय लोग मारे गए और एक घायल हो गया। अधिकारियों के मुताबिक आतंकवादी (Terrorists)  मजदूरों के किराए के मकान में घुस गए और उन पर अंधाधुंध गोलीबारी की।

राजनीतिक दलों ने की हमले की निंदा

पढ़ें :- सीकर सांसद सुमेधानंद सरस्वती ने की बड़ी घोषणा, न्याय दिलाने के लिए सड़क पर उतरेगी भाजपा

इस आतंकवादी (Terrorists) हमले की सभी राजनीतिक दलों ने कड़ी निंदा की है। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) की प्रमुख महबूबा मुफ्ती (Chief Mehbooba Mufti) ने ट्वीट किया कि निर्दोष नागरिकों पर बार-बार होने वाले बर्बर हमलों की निंदा करने के लिए शब्द नहीं हैं। मेरी संवेदना उनके परिवारों के लिए है, क्योंकि वे सम्मानजनक आजीविका कमाने के लिए अपने घरों निकले हुए हैं। बहुत दुख की बात है।

भारतीय जनता पार्टी (BJP) की जम्मू कश्मीर इकाई के प्रवक्ता अल्ताफ ठाकुर (Jammu and Kashmir unit spokesperson Altaf Thakur) ने हत्याओं की निंदा करते हुए कहा कि यह ‘नरसंहार के अलावा कुछ नहीं’ है। उन्होंने कहा कि गैर-स्थानीय लोगों की हत्या अमानवीय के अलावा और कुछ नहीं है और आतंकवादियों की हताशा (Desperation of Terrorists) को दर्शाती है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...