HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. ऑटो
  3. Semiconductor Chip Purchasing : सेमीकंडक्टर चिप की खरीददारी के लिए टेस्ला ने टाटा इलेक्ट्रॉनिक्स से मिलाया हाथ , हुई बड़ी डील

Semiconductor Chip Purchasing : सेमीकंडक्टर चिप की खरीददारी के लिए टेस्ला ने टाटा इलेक्ट्रॉनिक्स से मिलाया हाथ , हुई बड़ी डील

टेस्ला ने भारत के ऑटोमोटिव बाजार में अपनी रुचि का संकेत देते हुए सेमीकंडक्टर चिप्स हासिल करने के लिए टाटा इलेक्ट्रॉनिक्स के साथ एक रणनीतिक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Semiconductor Chip Purchasing : टेस्ला ने भारत के ऑटोमोटिव बाजार में अपनी रुचि का संकेत देते हुए सेमीकंडक्टर चिप्स हासिल करने के लिए टाटा इलेक्ट्रॉनिक्स के साथ एक रणनीतिक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। अमेरिकन इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला बहुत जल्द भारत में एंट्री कर सकती है। खबरों के अनुसार, अरबपति एलन मस्क की टेस्ला टाटा ग्रुप की कंपनी से सेमीकंडक्टर चिप खरीदेगी। यह समझौता काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे अन्य वैश्विक ग्राहकों के बीच भी टाटा का नाम स्थापित हो जाएगा और चिप निर्माताओं की सूची में भारत का नाम शामिल हो जाएगा।

पढ़ें :- MG Astor Facelift : एमजी एस्टर फेसलिफ्ट की लॉन्च से पहले लीक हुई तस्वीरें

अमेरिका की अग्रणी इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) कंपनी टेस्ला दुनिया के सबसे तेजी से बढ़ते ऑटोमोटिव बाजार भारत में प्रवेश पर नजर गड़ाए हुए है। एलन मस्क इस महीने अपनी भारत यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करने वाले हैं। मस्क द्वारा भारत में संभावित निवेश की घोषणा करने की उम्मीद है, जिसमें ईवी विनिर्माण सुविधाओं की योजना भी शामिल है। टेस्ला के पास वर्तमान में बाजार मूल्य के हिसाब से दुनिया की सबसे बड़ी ऑटोमोटिव कंपनी का खिताब है।

टेस्ला भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों के निर्माण के लिए 2-3 बिलियन डॉलर का निवेश कर सकती है। दूसरी ओर टाटा इलेक्ट्रॉनिक्स ने कारोबार का विस्तार करने के लिए देश के होसुर, धोलेरा और असम में सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी शुरू की है और अब तक इस बिजनेस में 14 बिलियन डॉलर का निवेश किया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...