1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Aalambadi Jeevan Parichay: सपा के वो विधायक जिनकी ईमानदारी की दी जाती है मिसाल,पापा चाचा से लेकर बेटे तक करते हैं सम्मान

Aalambadi Jeevan Parichay: सपा के वो विधायक जिनकी ईमानदारी की दी जाती है मिसाल,पापा चाचा से लेकर बेटे तक करते हैं सम्मान

आज राजनेताओं के जीवन परिचय में हम बार करेंगे एक ऐसे शख्स की जिनके बारे में आप भी जान कर ​के हैरान हो जायेंगे। ये विधायक वो हैं जो समाजवादी पार्टी के सबसे ईमानदार विधायक माने जाते हैं। हम बार कर रहे हैं निर्वाचन क्षेत्र - 348, निज़ामाबाद जिला - आजमगढ़ से सपा की टिकट पर चुनाव जीत कर के चौ​थी बार विधायक बने आलमबदी की।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

 Aalambadi Jeevan Parichay: आज राजनेताओं के जीवन परिचय में हम बात करेंगे एक ऐसे शख्स की जिनके बारे में आप भी जान कर ​के हैरान हो जायेंगे। ये विधायक वो हैं जो समाजवादी पार्टी(SAMAJWADI PARTY) के सबसे ईमानदार विधायक माने जाते हैं। हम बात कर रहे हैं निर्वाचन क्षेत्र – 348, निज़ामाबाद जिला – आजमगढ़ से सपा की टिकट पर चुनाव जीत कर के चौ​थी बार विधायक बने आलमबदी की। आलमबदी का जन्म ग्राम- विन्दवल (Azamgarh) में हुआ। इनका जन्म 16 मार्च, 1936 को श्री वदीउज्जमा आज़मी (FATHER) के घर में हुआ। आलमबदी सपा के काफी बुजुर्ग मुस्लिम नेता हैं। इनकी प्रारम्भिक शिक्षा आस पास के ही समान्य स्कूलों से हुई है। इंटरमीडिएट करने के पश्चात इलेक्ट्रिकल एण्ड मैकेनिकल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया।

पढ़ें :- Kailash Nath Shukla jeevan parichay : संगठन से लेकर सत्ता तक का कैलाश नाथ शुक्ल ने यूं तय किया सफर

पिता का नाम-          वदीउज्जमा आज़मी
जन्‍म तिथि-             16 मार्च, 1936
जन्‍म स्थान-              ग्राम- विन्दवल (आजमगढ़)
धर्म-                         इस्लाम
जाति-                       मुस्लिम
शिक्षा-                      इण्‍टरमीडिएट, डिप्लोमा इन इलेक्ट्रिकल एण्ड मैकेनिकल इंजीनियरिंग
विवाह तिथि-           अक्टूबर, 1960
पत्‍नी का नाम-         कुदसिया खान
सन्तान-                  छ: पुत्र
व्‍यवसाय-               इंजीनियरिंग
मुख्यावास-            145, कुर्मी टोला, जनपद- आजमगढ़

राजनीतिक इतिहास

इस वर्तमान(PRESENT) समय में आलमबदी सपा के काफी बुजुर्ग नेताओं में से एक हैं। सपा में बचे कुछ वैचारिक नेताओं में भी आलमबदी का नाम भी शुमार किया जाता है। आलमबदी कुल चार बार विधायक चुने गये हैं।
1996, सितम्बर- अक्टूबर तेरहवीं विधान सभा के सदस्य पहली बार निर्वाचित
2002, फरवरी चौदहवीं विधान सभा के सदस्य दूसरी बार निर्वाचित
2012-2017 सोलहवीं विधान सभा के सदस्य तीसरी बार निर्वाचित
2012-2013 सदस्य, सरकारी आश्वासन सम्बन्धी समिति
मार्च, 2017 सत्रहवीं विधानसभा के सदस्य चौथी बार निर्वाचित

ये वो सूचि हैं की वो कब कब अपने क्षेत्र से विधायक बन सदन पहुंचे। आलमबदी सपा के मुखिया मुलायम सिंह(MULAYAM SINGH) के मित्र और संघर्षो के साथी माने जाते हैं। आलमबदी ऐसे बुजुर्ग और उम्रदराज नेता हैं जिनकी इज्जत वर्तमान राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से लेकर के सभी सपाई जन करते हैं। राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा, असहाय एवं गरीबों की सहायता, पठन-पाठन(READING) में इनकी विशेष रुचि है।

पढ़ें :- Hakim Lal Bind jeevan parichay : हाकिम ने हाथी की सवारी तो नहीं चला हण्डिया सीट पर मोदी का जादू

 

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...