1. हिन्दी समाचार
  2. बॉलीवुड
  3. ‘सत्ता की गुलामी’ देश की असली आजादी लग रही है…, DCW राष्ट्रपति को चिट्ठी लिख की ये मांग

‘सत्ता की गुलामी’ देश की असली आजादी लग रही है…, DCW राष्ट्रपति को चिट्ठी लिख की ये मांग

कंगना रनौत के 1947 में भीख पर मिली आजादी के बयान के बाद से बवाल लगातार बढ़ता ही जा रहा है। जहां बीते दिन महात्मा गांधी के परपोते तुषार गांधी ने इनके बयान को लेकर कहा कंगना रनौत नफरत और असहिष्णुता की एजेंट हैं। वहीं अब दिल्ली महिला आयोग (DCW) ने इनके बयान पर आपत्ति जताई है। 

By आराधना शर्मा 
Updated Date

 Bollywood news: कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के 1947 में भीख पर मिली आजादी के बयान के बाद से बवाल लगातार बढ़ता ही जा रहा है। जहां बीते दिन महात्मा गांधी के परपोते तुषार गांधी (Tushar Gandhi) ने इनके बयान को लेकर कहा कंगना रनौत (Kangana Ranaut) नफरत और असहिष्णुता की एजेंट हैं। वहीं अब दिल्ली महिला आयोग (DCW) ने इनके बयान पर आपत्ति जताई है।

पढ़ें :- पंजाब में कंगना रनौत के काफिले को किसानों ने रोका, माफी मांगने के बाद हुईं रवाना

आपको बता दें, आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल (Swati Maliwal) ने कंगना को दिए गए पद्मश्री पुरस्कार (Padma Shri Award) को वापस लेने और राजद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की मांग को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) को चिट्‌ठी लिखी है।

स्वाति मालीवाल ने चिट्ठी में लिखा

मालीवाल ने अपने चिट्‌ठी में लिखा कि एक्ट्रेस ने अपने बयान से देश के स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान किया है। उनके इन बयानों से पता चलता है कि उनके अंदर भगत सिंह, महात्मा गांधी जैसे हमारे अनेक स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों (freedom fighters) के को लेकर कितनी नफरत भरी हुई है। जिन्होंने म्हारे देश की आजादी के लिए अपनी जान दे दी। सभी को पता है हमारे स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों (freedom fighters) के बलिदान के कारण ही हमें ब्रिटिश हुकूमत (British rule) से आजादी मिली है। स्वाति ने आगे कहा कि कंगना को ‘सत्ता की गुलामी’ देश की असली आजादी लग रही है।

मालीवाल ने राष्ट्रपति से आग्रह किया कि इस पूरे मामले का संज्ञान लिया जाए और कंगना से पद्मश्री पुरस्कार वापस लिया जाए। आयोग की अध्यक्ष ने कहा कंगना के बयान से भारतीयों की भावनाएं आहत हुईं और उनका बयान राजद्रोह की श्रेणी में आता है। अपनी चिट्‌ठी में कंगना के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किए जाने की मांग की है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...