HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. स्वामी प्रसाद मौर्य ने कुशीनगर लोकसभा सीट पर 9 मई को करेंगे नामांकन, मायावती से नहीं बन पाई बात

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कुशीनगर लोकसभा सीट पर 9 मई को करेंगे नामांकन, मायावती से नहीं बन पाई बात

राष्ट्रीय शोषित समाज पार्टी (RSSP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष  स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट एक्स पर कुशीनगर लोकसभा सीट (Kushinagar Lok Sabha Seat) को लेकर मंगलवार को अपना रुख साफ कर दिया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। राष्ट्रीय शोषित समाज पार्टी (RSSP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष  स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट एक्स पर कुशीनगर लोकसभा सीट (Kushinagar Lok Sabha Seat) को लेकर मंगलवार को अपना रुख साफ कर दिया है। उन्होंने एक्स पर लिखा कि लोकसभा क्षेत्र संख्या-65, कुशीनगर से राष्ट्रीय शोषित समाज पार्टी (RSSP) के लोकसभा प्रत्याशी के रूप में 09 मई गुरुवार को जिला मुख्यालय, रविंद्रनगर धूस, कुशीनगर में नामांकन करूंगा। आप सभी सम्मानित साथी समय- प्रातः 10 बजे, स्थान- शुक्ला मैरेज हॉल, पडरौना (रामकोला रोड पडरौना), जनपद कुशीनगर में आयोजित चुनावी जनसभा में समय से पहुंचने की कृपा करें।

पढ़ें :- स्वामी प्रसाद मौर्या के कार्यालय पर तोड़फोड़ और फायरिंग; नाराज कार्यकर्ताओं ने देर रात थाने पर किया हंगामा

बता दें कि इससे पहले स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya)  के बहुजन समाज पार्टी में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही थीं। जानकारों का कहना है कि वह बसपा सुप्रीमो मायावती के संपर्क मे थे और उनके बसपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ने की संभावना जताई जा रही थी मगर अब उन्होंने कुशीनगर लोकसभा सीट को लेकर अपने पत्ते खोल दिए हैं। इससे साफ हो गया है कि मायावती के साथ उनकी बात नहीं बन पाई है।

पढ़ें :- यूपी में हिंदुत्व की आड़ में अल्पसंख्यकों पर अत्याचार चरम पर है, ब्राह्मणों को किया जा रहा है परेशान : मायावती

स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya)  लंबे समय तक बसपा में रहे हैं और उन्हें पार्टी का कद्दावर नेता माना जाता था। बसपा में रहने के दौरान उन्हें मायावती का काफी करीबी माना जाता था। हालांकि बाद में उन्होंने बसपा से इस्तीफा देकर भाजपा का दामन थाम लिया था। भाजपा के राज में पांच साल तक मंत्री रहने के बाद वे समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए थे। टिछले दिनों उन्होंने सपा से भी इस्तीफा देकर राष्ट्रीय शोषित समाज पार्टी का गठन किया है। इसी पार्टी के बैनर तले वे 9 मई को कुशीनगर से नामांकन दाखिल करने जा रहे हैं। इससे साफ हो गया है की बहन जी के साथ उनकी बात नहीं बन पाई है। वैसे बसपा को लेकर हाल के दिनों में स्वामी प्रसाद मौर्य ने कोई बयान नहीं दिया है।

कुशीनगर लोकसभा सीट (Kushinagar Lok Sabha Seat) पर भी पूर्वांचल की अन्य सीटों के साथ सातवें और आखिरी चरण में 1 जून को मतदान होने वाला है। आखिरी चरण वाली सीटों के लिए आज से नामांकन का काम शुरू हो गया है। पिछले लोकसभा चुनाव में कुशीनगर सीट (Kushinagar Lok Sabha Seat)  पर भाजपा के टिकट पर विजय कुमार दुबे ने जीत हासिल की थी। उन्होंने सपा के प्रत्याशी एनपी कुशवाहा को हराया था। पार्टी ने इस बार भी विजय कुमार दुबे को चुनाव मैदान में उतारा है। दूसरी ओर समाजवादी पार्टी ने इस सीट पर अजय प्रताप सिंह को टिकट दिया है। कुशीनगर लोकसभा सीट (Kushinagar Lok Sabha Seat)  के अंतर्गत पांच विधानसभा क्षेत्र आते हैं। इनमें से चार विधानसभा क्षेत्रों पर भाजपा ने जीत हासिल की थी जबकि एक सीट पर भाजपा की सहयोगी निषाद पार्टी का कब्जा है। इस कारण इस लोकसभा क्षेत्र में स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya)   की सियासी राह आसान नहीं मानी जा रही है। उन्हें भाजपा और सपा प्रत्याशियों की कड़ी चुनौती का सामना करना होगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...