1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. मणिपुर में विद्रोही समूह UNLF ने शांति समझौते पर किए हस्‍ताक्षर, गृह मंत्री अमित शाह ने बताया ऐतिहासिक

मणिपुर में विद्रोही समूह UNLF ने शांति समझौते पर किए हस्‍ताक्षर, गृह मंत्री अमित शाह ने बताया ऐतिहासिक

पूर्वोत्तर में स्थायी शांति स्थापित करने के लिए मोदी सरकार के अथक प्रयासों ने एक नया अध्याय जोड़ा है, क्योंकि यूनाइटेड नेशनल लिबरेशन फ्रंट (UNLF) ने आज एक शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। मणिपुर का सबसे पुराना घाटी स्थित सशस्त्र समूह यूएनएलएफ हिंसा को त्यागने और मुख्यधारा में शामिल होने के लिए सहमत हो गया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्‍ली। पूर्वोत्तर में स्थायी शांति स्थापित करने के लिए मोदी सरकार के अथक प्रयासों ने एक नया अध्याय जोड़ा है, क्योंकि यूनाइटेड नेशनल लिबरेशन फ्रंट (UNLF) ने आज एक शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। मणिपुर का सबसे पुराना घाटी स्थित सशस्त्र समूह यूएनएलएफ हिंसा को त्यागने और मुख्यधारा में शामिल होने के लिए सहमत हो गया है। यह जानकारी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर दी है। उन्होंने बताया कि ‘ एक ऐतिहासिक मील का पत्थर हासिल हुआ। उन्‍होंने कहा कि मैं लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं में उनका स्वागत करता हूं और शांति और प्रगति के पथ पर उनकी यात्रा के लिए शुभकामनाएं देता हूं।

पढ़ें :- जब तक आप मोदी को सत्ता से नहीं हटाएंगे, तब तक देश में सुख-समृद्धि नहीं आएगी : मल्लिकार्जुन खड़गे

उन्‍होंने कहा कि मणिपुर का सबसे पुराना घाटी स्थित सशस्त्र समूह यूएनएलएफ हिंसा छोड़कर मुख्यधारा में शामिल होने पर सहमत हो गया है। मैं लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं में उनका स्वागत करता हूं और शांति और प्रगति के पथ पर उनकी यात्रा के लिए शुभकामनाएं देता हूं। भारत सरकार और मणिपुर सरकार द्वारा यूएनएलएफ के साथ आज हस्ताक्षरित शांति समझौता छह दशक लंबे सशस्त्र आंदोलन के अंत का प्रतीक है। यह साकार करने की दिशा में एक ऐतिहासिक उपलब्धि है। पीएम नरेंद्र मोदी का सर्वसमावेशी विकास और पूर्वोत्तर भारत में युवाओं को बेहतर भविष्य प्रदान करने का दृष्टिकोण है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...