HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP News : धनंजय सिंह बरेली सेंट्रल जेल से रिहा,कहा मुझे फर्जी मुकदमे में हुई थी सजा

UP News : धनंजय सिंह बरेली सेंट्रल जेल से रिहा,कहा मुझे फर्जी मुकदमे में हुई थी सजा

यूपी (UP) की जौनपुर लोकसभा सीट से पूर्व सांसद धनंजय सिंह (Dhananjay Singh) बरेली सेंट्रल जेल (Bareilly Central Jail) से रिहा हो गए हैं। बुधवार सुबह जेल से रिहा होने के बाद बाहर आते ही उन्होंने कहा कि मुझे फर्जी मुकदमे में सजा हुई। मेरी पत्नी चुनाव लड़ रही हैं। मैं सीधे अपने क्षेत्र में जाऊंगा। इसके बाद वह अपने जौनपुर के लिए रवाना हो गए।

By संतोष सिंह 
Updated Date

जौनपुर। यूपी (UP) की जौनपुर लोकसभा सीट से पूर्व सांसद धनंजय सिंह (Dhananjay Singh) बरेली सेंट्रल जेल (Bareilly Central Jail) से रिहा हो गए हैं। बुधवार सुबह जेल से रिहा होने के बाद बाहर आते ही उन्होंने कहा कि मुझे फर्जी मुकदमे में सजा हुई। मेरी पत्नी चुनाव लड़ रही हैं। मैं सीधे अपने क्षेत्र में जाऊंगा। इसके बाद वह अपने जौनपुर के लिए रवाना हो गए।

पढ़ें :- Lok Sabha Election 2024 Phase 5: यूपी में दोपहर तीन बजे तक 47.55 प्रतिशत हुआ मतदान

बता दें कि रिहाई का परवाना लेकर जौनपुर जेल से स्पेशल मैसेंजर बरेली सेंट्रल जेल (Bareilly Central Jail)  के लिए रवाना हुए थे। बुधवार सुबह उनकी जेल में रिहाई हो गई। शनिवार से जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह (Dhananjay Singh) को बरेली सेंट्रल जेल (Bareilly Central Jail)  में शिफ्ट किया गया था। धनंजय सिंह को हाई सिक्योरिटी बैरक में रखा गया था। उसी दिन धनंजय सिंह (Dhananjay Singh) को इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने जमानत दे दी थी, लेकिन सजा पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था।

धनजंय सिंह (Dhananjay Singh)  की पत्नी श्रीकला रेड्डी (Srikala Reddy) जौनपुर से बसपा की लोकसभा प्रत्याशी हैं और उन्हें एक मई को नामांकन दाखिल करना था। धनंजय की रिहाई में देरी की वजह से श्रीकला अब चार मई को नामांकन करेंगी।

यह है पूरा मामला?

धनंजय सिंह (Dhananjay Singh)  को अपहरण व रंगदारी के मामले में सात मार्च को सजा सुनाई गई थी। उस मामले में वादी अभिनव सिंघल ने 10 मई 2020 को लाइन बाजार थाने में पूर्व सांसद धनंजय सिंह (Dhananjay Singh)  समेत दो के खिलाफ अपहरण व रंगदारी की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था।

पढ़ें :- जनता संविधान और लोकतंत्र की रक्षा के लिए खड़ी हो गई है और भाजपा को हरा रही है : राहुल गांधी

पुलिस ने विवेचना करके तीन माह के अंदर कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल कर दिया। कोर्ट ने दो अप्रैल 2022 को धनंजय व सहयोगी पर आरोप तय किया था। इसके बाद 130 तारीखों की सुनवाई के बाद पांच मार्च 2023 को धनंजय समेत दो को दोषी पाया गया। इसके बाद सात मार्च 2024 को सजा सुनाई गई।

27 अप्रैल को शासन के आदेश पर जौनपुर पुलिस (Jaunpur Police) ने धनंजय सिंह (Dhananjay Singh)  को बरेली सेंट्रल जेल  (Bareilly Central Jail) शिफ्ट  किया था। इस बीच उन्हें हाईकोर्ट से जमानत मिल गई। मंगलवार को जौनपुर जिला जेल के अधीक्षक एसके पांडेय (Jaunpur District Jail Superintendent SK Pandey) ने रिहाई का परवाना रेडियो मैसेंजर के जरिए बरेली सेंट्रल जेल (Bareilly Central Jail) को भेज दिया गया था। बुधवार सुबह ही धनंजय सिंह (Dhananjay Singh)  को जेल से रिहा कर दिया गया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...