1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP News: मायावती ने सियासी अटकलों पर लगाया विराम,जन्मदिन पर बोलीं- लोकसभा और विधानसभा चुनाव बगैर गठबंधन लड़ेंगी चुनाव

UP News: मायावती ने सियासी अटकलों पर लगाया विराम,जन्मदिन पर बोलीं- लोकसभा और विधानसभा चुनाव बगैर गठबंधन लड़ेंगी चुनाव

मायावती (Mayawati) ने अपने जन्मदिन के अवसर पर रविवार को ऐलान किया कि बसपा (BSP) आगामी चार राज्यों के विधानसभा चुनाव (Assembly Elections)  और लोकसभा चुनाव (Lok Sabh  Elections) में किसी से गठबंधन नहीं करेगी। वह अपने दम पर चुनाव लड़ेंगी। पार्टी के प्रदेश मुख्यालय पर मायावती (Mayawati)  रविवार को मीडियाकर्मियों से बात कर रही थीं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। मायावती (Mayawati) ने अपने जन्मदिन के अवसर पर रविवार को ऐलान किया कि बसपा (BSP) आगामी चार राज्यों के विधानसभा चुनाव (Assembly Elections)  और लोकसभा चुनाव (Lok Sabh  Elections) में किसी से गठबंधन नहीं करेगी। वह अपने दम पर चुनाव लड़ेंगी। पार्टी के प्रदेश मुख्यालय पर मायावती (Mayawati)  रविवार को मीडियाकर्मियों से बात कर रही थीं।

पढ़ें :- बेसिक शिक्षा विभाग ने निपुण भारत मिशन प्रचार-प्रसार के लिये जारी किये  आवश्यक निर्देश 

यदि बैलेट पेपर से चुनाव कराए जाएं तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा यह सारा खेल ईवीएम की गड़बड़ी का है

उन्होंने कहा कि यदि बैलेट पेपर से चुनाव कराए जाएं तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा यह सारा खेल ईवीएम (EVM) की गड़बड़ी का है।उन्होंने कहा कि जातिवादी और संकीर्ण ताकतें साम दाम दंड भेद से बसपा को दूर करने में जुटी हैं । ग्लोबल समिट (Global Summit)के नाम पर यह जो निवेश आ रहा है यह केवल भाजपा की खराब नीतियों पर पर्दा डालने की नाटक बाजी है। उन्होंने कहा कि हल्द्वानी में लोगों को उजाड़ा जा रहा है कानून व्यवस्था की आड़ में घिनौना खेल खेला जा रहा है।

उन्होंने कहा कि अब ओबीसी आरक्षण (OBC Reservation) पर भी भाजपा कांग्रेस सपा की राह पर चल निकली है । यही कारण रहा कि निकाय चुनाव प्रभावित हुआ । इस मौके पर मायावती (Mayawati)  ने मेरे संघर्ष में जीवन एवं बीएसपी मूवमेंट का सफरनामा भाग 18 का भी विमोचन किया । उन्होंने खासतौर से बैलेट पेपर से चुनाव कराए जाने पर जोर दिया। कहा कि जब-जब बैलेट से चुनाव हुआ बसपा का जनाधार बढ़। ईवीएम आने के बाद ही यह गड़बड़ी हुई। उन्होंने कहा कि बसपा के युवा तैयार हो जाए एक न एक दिन सिस्टम भी फेल होगा। जिन जिन देशों में बैलेट पेपर से पहले चुनाव होता था दोबारा उसी से शुरू कर दिया गया है ।

बाबा साहब ने नहीं चलाई मनुस्मृति

पढ़ें :- उप्र माध्यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद की पूर्व मध्यमा से उत्तर मध्यमा स्तर तक की परीक्षाओं का कैलेण्डर जारी

बिहार के एक मंत्री के इस बयान पर कि बाबा साहब अंबेडकर ने ही मनुस्मृति शुरू की थी पर मायावती ने कहा यह बात तो बिल्कुल साफ है कि बाबा साहब अंबेडकर ने मनुस्मृति नहीं चलाई । हालांकि मंत्री ने यह बात किस परिपेक्ष में कही है इसका उन्हें पता नहीं है

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...