1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Vijay diwas: 93,000 पाकिस्तानी सैनिकों ने आज के ही दिन भारतीय जंबाजों के सामने टेके थे घुटने, रक्षामंत्री ने साझा की तस्वीर

Vijay diwas: 93,000 पाकिस्तानी सैनिकों ने आज के ही दिन भारतीय जंबाजों के सामने टेके थे घुटने, रक्षामंत्री ने साझा की तस्वीर

Vijay diwas: भारतीय सेना के जंबाजों ने आज के ही दिन 1971 में बांग्लादेश के लोगों को पाकिस्तान के जुल्मों से मुक्ति दिलाई थी। आज उस स्वर्णिम पल के 50 साल पूरे हो गए। हर साल की तरह इस बार भी देशभर में विजय दिवस धूमधाम से मनाया जा रहा है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने गुरुवार को कहा कि आज भारत के सैन्य इतिहास का स्वर्णिम अध्याय है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Vijay diwas: भारतीय सेना के जंबाजों ने आज के ही दिन 1971 में बांग्लादेश के लोगों को पाकिस्तान के जुल्मों से मुक्ति दिलाई थी। आज उस स्वर्णिम पल के 50 साल पूरे हो गए। हर साल की तरह इस बार भी देशभर में विजय दिवस धूमधाम से मनाया जा रहा है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने गुरुवार को कहा कि आज भारत के सैन्य इतिहास का स्वर्णिम अध्याय है।

पढ़ें :- Turkey Earthquake : मिडिल ईस्ट के चार देश भूकंप से तबाह, चारों तरफ बिछीं सैकड़ों लाशें, हजारों इमारतें जमींदोज

पढ़ें :- Turkiye Earthquake : भूकंप से तुर्किये तबाह, भारत ने की मदद की पेशकश,मुश्किल घड़ी में पुराने दुश्मन देशों का भी मिला सहारा

पाकिस्तान पर देश की जीत की 50 वीं वर्षगांठ के अवसर पर उन्होंने कहा कि इसी से बांग्लादेश का जन्म हुआ। इस मौके पर रक्षामंत्री ने जवानों को श्रद्धांजलि भी दी है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर लिखा है कि, ‘स्वर्णिम विजय दिवस’ के अवसर पर हम 1971 के युद्ध के दौरान अपने सशस्त्र बलों के साहस और बलिदान को याद करते हैं।

1971 का युद्ध भारत के सैन्य इतिहास का स्वर्णिम अध्याय है। हमें अपने सशस्त्र बलों और उनकी उपलब्धियों पर गर्व है। इसके साथ ही 1991 की कई तस्वीरों को भी रक्षामंत्री ने शेयर किया है। बता दें कि लगभग 93,000 पाकिस्तानी सैनिकों ने 16 दिसंबर, 1971 को भारतीय सेना और “मुक्ति वाहिनी” की संयुक्त सेना के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था, जिसने बांग्लादेश के जन्म का मार्ग प्रशस्त किया। साथ ही उन्होंने ‘पाकिस्तानी समर्पण के हथियार’ की एक तस्वीर भी साझा की।

पढ़ें :- गृह मंत्रालय ने BJP के इन तीन नेताओं को दी Y+ सुरक्षा, CISF कमांडो रहेंगे साथ

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...