1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Vinod Saroj jeevan parichay : बाबागंज सुरक्षित विधानसभा सीट पर विनोद सरोज ‘जीत की हैट्रिक’ लगा रचा इतिहास

Vinod Saroj jeevan parichay : बाबागंज सुरक्षित विधानसभा सीट पर विनोद सरोज ‘जीत की हैट्रिक’ लगा रचा इतिहास

Vinod Saroj jeevan parichay : यूपी के प्रतापगढ़ जिले (Pratapgarh District) की बाबागंज सुरक्षित विधानसभा (Babaganj Secure Assembly) पर लगातार तीसरी बार चुनाव जीतकर विनोद सरोज (Vinod Saroj)  ने इतिहास रचा है। निर्वाचन क्षेत्र - 245, बाबागंज (Constituency - 245, Babaganj) परिसीमन से बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) के नाम से जाना जाता था।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Vinod Saroj jeevan parichay : यूपी के प्रतापगढ़ जिले (Pratapgarh District) की बाबागंज सुरक्षित विधानसभा (Babaganj Secure Assembly) पर लगातार तीसरी बार चुनाव जीतकर विनोद सरोज (Vinod Saroj)  ने इतिहास रचा है। निर्वाचन क्षेत्र – 245, बाबागंज (Constituency – 245, Babaganj) परिसीमन से बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) के नाम से जाना जाता था।

पढ़ें :- Bawan Singh jeevan Parichay : पिता की ऊंगली थाम बावन सिंह ने सीखा राजनीति का ककहरा, बने अब माहिर खिलाड़ी
Jai Ho India App Panchang

प्रतापगढ़ जिले (Pratapgarh District) की बाबागंज सुरक्षित विधानसभा जिस पर राजा रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजाभैया (Raja Raghuraj Pratap Singh alias Rajabhaiya) के वर्चस्व की विधानसभा कहा जाता है। इसके साथ ही ये भी कहावत है कि राजाभैया जिसे चाहते हैं वही यहां से जीत सकता है, किन्तु कोई भी इस विधानसभा के इतिहास में अभी तक हैट्रिक नहीं लगा सका था, लेकिन 2017 के विधानसभा चुनाव में राजाभैया ने विगत दो बार के विधानसभा चुनाव के विजेता विनोद सरोज को विधानसभा चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में मैदान में उतारा और वह उनकी उम्मीदों पर खरा उतरते हुए इतिहास रचने में कामयाब रहे। इस विधानसभा में अभी तक कोई भी लगातार तीन बार विधायक नहीं चुना गया था।

जीवन शैली और शिक्षा

विनोद सरोज का जन्म 1 जुलाई 1980 को प्रतापगढ़ में हुआ था । वह दिवंगत राजनीतिज्ञ पूर्व विधायक रामनाथ सरोज (Former MLA Ramnath Saroj) के पुत्र हैं, जिन्होंने 1996 से 2007 तक दो बार विधायक के रूप में कार्य किया, उन्होंने प्रतापगढ़ जिले के बिहार निर्वाचन क्षेत्र के लिए 1996 और 2002 विधानसभा चुनाव जीते । उन्होंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय (Allahabad University) से कला स्नातक की पढ़ाई की है और बाद में 2001 में छत्रपति साहू जी महाराज विश्वविद्यालय (Chhatrapati Shahu Ji Maharaj University) से कला (एमए) में स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त की ।

ये है पूरा सफरनामा

पढ़ें :- Saroj Sonkar jeevan Parichay : उपचुनाव में सरोज सोनकर बलहा सीट पर चुनकर पहली बार पहुंची विधानसभा

नाम-विनोद सरोज
निर्वाचन क्षेत्र – 245, बाबागंज, प्रतापगढ़
दल – निर्दलीय
पिता का नाम- स्व0 रामनाथ सरोज
जन्‍म तिथि- 01 जुलाई, 1980
जन्‍म स्थान- प्रतापगढ़
धर्म- हिन्दू
जाति- अनुसूचित जाति (पासी)
शिक्षा- स्नातकोत्तर
विवाह तिथि- 17 जून, 2002
पत्‍नी का नाम- कुसुम
सन्तान- एक पुत्र, दो पुत्रियां
व्‍यवसाय- कृषि
मुख्यावास ग्राम- रैय्यापुर (शीतलपुर), पोस्ट-भदरी, तहसील-कुण्डा, जनपद- प्रतापगढ़

विनोद सरोज के पिता रामनाथ सरोज दो बार रह चुके थे विधायक

राजाभैया ने विधायक विनोद सरोज के पिता रामनाथ सरोज को अपने संरक्षण व आशीर्वाद के साथ निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में वर्ष 2002 व 2007 का चुनाव लड़वाया जिसमें उन्‍हें रिकॉर्ड वोटों से जीत हासिल हुई, किन्तु तीसरा विधानसभा चुनाव लड़ने से पूर्व ही रामनाथ सरोज का निधन हो गया था।

राजनीतिक योगदान
2007-2012 पन्द्रहवीं विधान सभा के सदस्य प्रथम बार निर्वाचित
2012-2017 सोलहवीं विधान सभा के सदस्य दूसरी बार निर्वाचित
मार्च, 2017 सत्रहवीं विधान सभा के सदस्य तीसरी बार निर्वाचित

पढ़ें :- Major Sunil Dutt Dwivedi jeevan Parichay : तीन बार के सिटिंंग विधायक को हराकर मेजर सुनील दत्त द्विवेदी पहुंचे विधानसभा
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...