1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. अखिलेश यादव ने जयंत चौधरी को 36 सीटों पर किया राजी! जल्द हो सकता है ऐलान

अखिलेश यादव ने जयंत चौधरी को 36 सीटों पर किया राजी! जल्द हो सकता है ऐलान

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022) को लेकर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है। सपा की कई राजनीतिक दलों से गठबंधन के लिए भी लगातार बातचीत चल रही है। इसकी क्रम में अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने एक तरफ पूर्वी यूपी में सुलेहदेव भारतीय समाज पार्टी (Sulehdev Bhartiya Samaj Party) को साध लिया है, तो वहीं पश्चिम यूपी (UP) में रालोद (RLD) के साथ डील पक्की होने वाली है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022) को लेकर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है। सपा की कई राजनीतिक दलों से गठबंधन के लिए भी लगातार बातचीत चल रही है। इसकी क्रम में अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने एक तरफ पूर्वी यूपी में सुलेहदेव भारतीय समाज पार्टी (Sulehdev Bhartiya Samaj Party) को साध लिया है, तो वहीं पश्चिम यूपी (UP) में रालोद (RLD) के साथ डील पक्की होने वाली है। सूत्रों के मुताबिक रालोद (RLD)  को पश्चिम यूपी में 36 सीटें मिल सकती हैं। इसके अलावा दो से तीन सीटों पर रालोद (RLD) के सिंबल पर सपा (SP) के नेता चुनावी समर में उतर सकते हैं।

पढ़ें :- Akhilesh Yadav बोले- झांसी वाले अब नहीं आएंगे झांसे में,बुंदेलखंड पुकारता है नहीं चाहिए भाजपा सरकार

इस महीने के आखिर तक अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) यूपी (UP) में सीट शेयरिंग फार्मूले  का ऐलान कर सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय लोक दल (Rashtriya Lok Dal) ने शुरुआत में 62 सीटों की मांग की थी, लेकिन समाजवादी पार्टी 30 से ज्यादा सीटें देने को तैयार नहीं थी। आखिर में रालोद (RLD)  के लिए 36 सीटें छोड़ने पर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party)  ने सहमति जताई है। गुरुवार को अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) के बीच लंबी बातचीत के बाद यह डील पक्की होने की बात कही जा रही है। रालोद की मुजफ्फरनगर, बागपत, बिजनौर, मेरठ, सहारनपुर जैसे जिलों में मजूबत उपस्थिति है।

इसके अलावा ब्रज क्षेत्र के बुलंदशहर, अलीगढ़ और मथुरा जैसे जिलों में रालोद (RLD) की पकड़ है। एक तरफ पश्चिम यूपी की सीटों पर रालोद (RLD) को बढ़त है तो वहीं ब्रज के बड़े क्षेत्र में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party)  को रालोद (RLD) से गठबंधन का फायदा मिल सकता है। राजनीतिक जानकारों के मुताबिक किसान आंदोलन के चलते जाटों और किसानों की भाजपा से नाराजगी का फायदा रालोद(RLD) को मिलने की उम्मीद है। इसके अलावा चौधरी अजित सिंह (Chaudhary Ajit Singh) की मौत के बाद जयंत चौधरी (Jayant Choudhary) का यह पहला चुनाव है। ऐसे में उन्हें सहानुभूति की लहर का फायदा भी मिल सकता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...