1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. केजरीवाल से मिलने दिल्ली पहुंचे अखिलेश यादव, ये मुलाकात बदल सकती है यूपी का सियासी समीकरण

केजरीवाल से मिलने दिल्ली पहुंचे अखिलेश यादव, ये मुलाकात बदल सकती है यूपी का सियासी समीकरण

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मंगलवार को दिल्ली दौरे पर रवाना हुए हैं। इस दौरान उनकी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात तय मानी जा रही है। पार्टी सूत्रों की मानें तो विधानसभा चुनाव से पहले यूपी में आम आदमी पार्टी और सपा के बीच गठबंधन हो सकता है। इसके कयास उसी दिन शुरू हो गए थे ।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मंगलवार को दिल्ली दौरे पर रवाना हुए हैं। इस दौरान उनकी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात तय मानी जा रही है। पार्टी सूत्रों की मानें तो विधानसभा चुनाव से पहले यूपी में आम आदमी पार्टी और सपा के बीच गठबंधन हो सकता है। इसके कयास उसी दिन शुरू हो गए थे जिस दिन अखिलेश यादव को जन्मदिन की बधाई देने आप राज्यसभा सांसद संजय सिंह उनके घर पहुंचे थे।

पढ़ें :- बड़ी खबर: भाजपा नेता बाबुल सु​प्रियो ने राजनीति से लिया संन्यास, फेसबुक पर लिखीं ये बातें...

दिल्ली से सटी 10 विधानसभा सीटों पर है आप की नजर

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल यूपी में राजनीतिक दखल बढ़ाने के लिए कमर कस चुके है। आम आदमी पार्टी की योजना के मुताबिक दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद की सीटों पर मंथन जारी है। पार्टी के सूत्रों के मुताबिक केजरीवाल की पहली गिरफ्तारी गाजियाबाद में हुई थी।

यूपी में बीते एक साल से सक्रिय आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी संजय सिंह लगातार अलग-अलग मुद्दों पर यूपी सरकार को घेर रहे हैं। 3 दिन पहले अखिलेश यादव से संजय सिंह ने मुलाकात कर राजनीतिक हलचलें बढ़ा दीं। ग्रेटर नोएडा गाजियाबाद में कुल 10 विधानसभा सीटें आती हैं।

अखिलेश बोल चुके हैं कि केवल छोटी पार्टियों से ही करेंगे गठबंधन

पढ़ें :- सीएम योगी की कोशिश ला रही रंग, यूपी के नौ और जिलों में नहीं मिले कोरोना के एक भी केस

अखिलेश यादव ने कई बार अपने बयान में कहा है कि वह यूपी में सक्रिय छोटे दलों से गठबंधन करेंगे। ऐसे में आप के साथ गठबंधन करने को लेकर चर्चाएं और तेज हो गई हैं। अखिलेश यादव ने अपने बयान में स्पष्ट किया है कि वह किसी भी राष्ट्रीय पार्टी से गठबंधन न करके छोटे-छोटे जातीय और अन्य क्षेत्रीय दलों से गठबंधन कर उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ पार्टी भाजपा को टक्कर देंगे।

सात माह पहले अरविंद केजरीवाल ने यूपी में चुनाव लड़ने का किया था ऐलान

आप पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सात माह पहले यूपी में विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान किया था। तब उन्होंने कहा था कि यूपी के लोग दिल्ली क्यों आ रहे हैं? ऐसा इसलिए क्योंकि वहां सुविधाएं नहीं हैं। अगर दिल्ली में सुविधाएं तैयार की जा सकती है तो यूपी में ऐसा क्यों नहीं हो सकता। यूपी ने अब तक गंदी राजनीति देखी है। ऐसे में अब उसे नया मौका मिलना चाहिए।

एक जुलाई को अखिलेश यादव का बर्थडे था, लेकिन इसके दो दिन बाद 3 जुलाई को आप के यूपी प्रभारी संजय सिंह अचानक समाजवादी पार्टी के लखनऊ स्थित दफ्तर पहुंच गए। उन्होंने अखिलेश यादव से करीब 45 मिनट बात की। तब गठबंधन के सवालों को टालते हुए संजय सिंह ने कहा था कि यह आने वाला समय बताएगा।

पढ़ें :- Controversial statements : भाजपा विधायक के बिगड़े बोल-सपा अध्यक्ष की औरंगजेब से तुलना, ममता बनर्जी को लंकिनी बताया
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...