HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. टेलीविजन
  3. किरण बेदी की बायोपिक ‘BEDI’ का अनाउंसमेंट, जानिए कब होगी रिलीज?

किरण बेदी की बायोपिक ‘BEDI’ का अनाउंसमेंट, जानिए कब होगी रिलीज?

ड्रीम स्लेट पिक्चर्स ने फाइनली मोस्ट अवेटेड बायोपिक फिल्म 'BEDI' का ऑफिशियली अनाउंसमेंट कर दिया है। भारत की पहली IPS ऑफिसर किरण बेदी (Kiran Bedi) की जिंदगी पर आधारित इस फिल्म का नाम BEDI: The Name You Know, The Story You Don't होगा। फिल्म की कहानी कुशाल चावला ने लिखी है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

मुंबई। ड्रीम स्लेट पिक्चर्स ने फाइनली मोस्ट अवेटेड बायोपिक फिल्म ‘BEDI’ का ऑफिशियली अनाउंसमेंट कर दिया है। भारत की पहली IPS ऑफिसर किरण बेदी (Kiran Bedi) की जिंदगी पर आधारित इस फिल्म का नाम BEDI: The Name You Know, The Story You Don’t होगा। फिल्म की कहानी कुशाल चावला ने लिखी है। इसमें किरण बेदी (Kiran Bedi) की जिंदगी से जुड़ी वो कहानियां और किस्से सुनाए जाएंगे, जिनसे दुनिया अभी तक नावाकिफ रही है। फिल्म में दिखाया जाएगा कि किरण ने किन चुनौतियों का सामना किया था और किस जिद और समर्पण के साथ वो अपने लक्ष्य को पाने में हमेशा जुटी रहीं।

पढ़ें :- Inside photos of Ambani: आलिया का हाथ थामे रणबीर कपूर, तो फैमिली संग माधुरी का दिखा अलग अंदाज पहुंची... देखें ग्रैंड वेडिंग की इनसाइड तस्वीरें

बायोपिक को लेकर क्या बोलीं किरण बेदी?

फिल्म की अनाउंसमेंट के दौरान डॉ. किरण बेदी (Kiran Bedi)  ने बताया कि यह कहानी सिर्फ मेरी कहानी नहीं है। यह हर भारतीय महिला की कहानी है। एक भारतीय महिला जो भारत में पली-बढ़ी, भारत में पढ़ी, जिसके माता-पिता ने भारत में उसकी परवरिश की और फिर उसने अपने पूरे करियर के दौरान भारत के लिए ही काम किया। मेरी कहानी 9 साल की उम्र में शुरू हुई थी जब मेरे पिता ने मुझसे कहा कि जीवन किसी ढलान की तरह है, जिस पर या तो आप ऊपर चढ़ते हैं, नहीं तो खिसक कर नीचे आ जाते हैं।”

गुरुमंत्र बनी माता-पिता की कही बातें

किरण बेदी ने कहा कि मेरी मां ने मुझे समझाया था कि या तो आप लोगों को कुछ दे सकते हैं या फिर उनसे ले सकते हैं। ये वो बातें हैं जो मेरे लिए मेरे जीवन का मंत्र बन गईं। क्योंकि हम इस फिल्म को 50वें International Year of the Woman पर रिलीज कर रहे हैं, तो यह औरतों की कहानी होगी जो हमारे महान देश को विश्व स्तर पर प्रदर्शित करेगी। किरण बेदी ने कहा कि यह फिल्म हर पीढ़ी और हर पेशे के लोगों के लिए है, जो ये मानते हैं कि कर्म ही पूजा है। वो लोग जो कर्मयोगी वाली मानसिकता के साथ काम करते हैं।

पढ़ें :- Mouni Roy saree look: गोल्डन साड़ी में मौनी रॉय ने बिखेरा जलवा, सिजलिंग अंदाज फैन्स को आया बेहद पसंद

कौशल चावला ने कहा कि देखने को मिलेगा गजब का ट्रांसफॉर्मेशन

फिल्म के पीछे की रचनात्मक शक्ति बने कौशल चावला ने कहा कि इस फिल्म को बहुत प्यार से बनाया गया है। फिल्म को बनाने में चार साल की कठिन रिसर्च और स्क्रिप्टराइटिंग लगी है ताकि लोगों को सटीक जानकारी और किरण बेदी (Kiran Bedi)   की जिंदगी को ढंग से समझने का एक मौका मिले। उन्होंने कहा कि इस फिल्म के लिए मैंने दिल छू लेने वाले ट्रांसफॉर्मेशन, अनदेखी चीजें और गजब की पर्सनल और प्रोफेशनल जर्नी से दर्शकों को गुजारने की कोशिश की है। वह हमेशा मेरे लिए प्रेरणा का स्त्रोत रही हैं और उन्होंने मुझ पर भरोसा किया यह मेरे लिए बड़ी बात है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...