1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Ashraf Ghani बोले- अफगानिस्तान में खून की नदियां न बहें, इसलिए मैंने छोड़ा देश

Ashraf Ghani बोले- अफगानिस्तान में खून की नदियां न बहें, इसलिए मैंने छोड़ा देश

तालिबान (Taliban) अब वह पूरे अफगानिस्तान (Afghanistan) पर कब्जा कर चुका है। इस खतरे को देखते हुए अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी (Afghan President Ashraf Ghani) भी देश छोड़कर भाग गए है। इसके बाद अब उन्होंने सोशल मीडिया (Social Media) पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। तालिबान (Taliban) अब वह पूरे अफगानिस्तान (Afghanistan) पर कब्जा कर चुका है। इस खतरे को देखते हुए अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी (Afghan President Ashraf Ghani) भी देश छोड़कर भाग गए है। इसके बाद अब उन्होंने सोशल मीडिया (Social Media) पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है।

पढ़ें :- US :अफगानिस्तान के लिए अमेरिका के विशेष दूत खलीलजाद ने दिया इस्तीफा

अशरफ गनी (Ashraf Ghani)ने सोशल मीडिया पर एक बयान में कहा कि आज मेरे सामने एक कठिन चुनाव आया कि मुझे हथियारों से लैस तालिबान का सामना करना चाहिए, जो महल में घुसना चाहता था या मुझे अपने प्यारे देश अफगानिस्तान को छोड़ना था। मैंने पिछले 20 वर्षों में अफगानिस्तान की रक्षा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया।

 

उन्होंने कहा कि खून की नदियां बहने से बचाने(Avoid Bleeding Flood) के लिए मैंने सोचा कि देश से बाहर जाना ही ठीक है। तालिबान (Taliban)  ने तलवार और बंदूकों के दम पर जीत हासिल की है। अब वे देशवासियों के सम्मान, धन और आत्मसम्मान की रक्षा (Protecting honor, wealth and self-respect) के लिए जिम्मेदार होंगे। इतिहास ने ऐसी शक्तियों को कभी नहीं अपनाया है।

गनी ने आगे बयान में कहा कि तालिबान के लिए आवश्यक है कि वह अफगानिस्तान के सभी लोगों, राष्ट्रों, विभिन्न क्षेत्रों, बहनों और महिलाओं को वैधता और लोगों का दिल जीतने का आश्वासन दे। और वह जनता के साथ मिलकर एक स्पष्ट योजना बनाए। मैं हमेशा अपने देश की सेवा करता रहूंगा।

पढ़ें :- IMD Rain Alert : 21 अक्‍टूबर तक देश में जारी रहेगा बारिश का सिलसिला

बता दें कि अफगानिस्तान पर 20 साल के बाद एक बार फिर तालिबान का कब्जा हो गया है। उसने देश के राष्ट्रपति भवन पर भी कब्जा जमा लिया है। टोलो न्यूज (Tolo News) के मुताबिक, यहां सत्ता हस्तांतरण की प्रकिया भी पूरी हो गई है। राष्ट्रपति अशरफ गनी (President Ashraf Ghani)ने तालिबान (Taliban) को सत्ता सौंप दी है। सूत्रों के मुताबिक, नई अंतरिम सरकार के अंतरिम प्रमुख के रूप में अली अहमद जलाली (Ali Ahmed Jalali) का नाम सबसे आगे चल रहा है।

काबुल की पुलिस ने अपने हथियार तालिबान (Taliban) को सौंप दिए हैं। इससे पहले आंतरिक और विदेश मामलों के कार्यवाहक मंत्रियों अब्दुल सत्तार मिर्जाकवाल (Abdul Sattar Mirzakwal) ने अलग-अलग वीडियो क्लिप (Video Clip) में आश्वासन दिया कि काबुल के लोगों को सुरक्षित किया जाएगा, क्योंकि वे अंतरराष्ट्रीय सहयोगियों के साथ शहर की रक्षा कर रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...