1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. शराब पीने वालों के लिए GOM का बड़ा फैसला, बार में पेग के बजाए आर्डर कर सकेंगे पूरी ‘बोतल’

शराब पीने वालों के लिए GOM का बड़ा फैसला, बार में पेग के बजाए आर्डर कर सकेंगे पूरी ‘बोतल’

दिल्लीवासियों के पास जल्द ही होटलों और क्लबों में अपने टेबल पर शराब की एक पूरी बोतल मंगाने का ऑप्शन होगा। 

By आराधना शर्मा 
Updated Date

Big Decision Of Gom For Drinkers They Will Be Able To Order Whole Bottle Instead Of Peg In Bar

नई दिल्ली: शराब पीने वालों के लिए दिल्ली डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया की अगुवाई में मंत्रियों के एक समूह ने मंगलवार को आबकारी नीति को लेकर कई बड़े फैसले लिए है। अभी होटल या बार में शराब पैग के हिसाब से परोसी जाती है। दरअसल, दिल्लीवासियों के पास जल्द ही होटलों और क्लबों में अपने टेबल पर शराब की एक पूरी बोतल मंगाने का ऑप्शन होगा।

पढ़ें :- अलीगढ़ में जहरीली शराब का कहर, दो ट्रक ड्राइवर समेत सात की मौत

आपको बता दें, मंत्रियों के समूह ने कहा कि यह होटल या बार की जिम्मेदारी होगी कि कोई भी शख्स शराब की पूरी बोतल लेकर बाहर न जाए। बता दें कि दिल्ली में 1,000 से ज्यादा होटल, क्लब और रेस्तरां हैं, जिनके पास अपने ग्राहकों को शराब परोसने के लिए आबकारी लाइसेंस है।

मंत्रियों के समूह ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि ग्राहकों को गुणवत्ता वाली शराब की सेवा सुनिश्चित करने के लिए उन्हें अपने टेबल पर पूरी बोतल मंगाने की अनुमति दी जाएगी, किन्तु यह सुनिश्चित करना बार की जिम्मेदारी होगी कि कोई भी कस्टमर परोसी गई शराब की बोतल को उनके परिसर से बाहर न ले जा सके।

GOM का बड़ा फैसला

इसके साथ ही रेस्तरां, क्लब और होटल के छत, बालकनी, निचले क्षेत्र जैसे खुले स्थानों में शराब परोसने की मंजूरी दी जा सकती है। इसके साथ ही नोएडा की तरह दिल्ली में रेस्तरां और क्लब की टाइमिंग बढ़ाई जा सकती है। GOM ने कहा कि होटल, क्लब और रेस्तरां को थोक विक्रेताओं की जगह केवल खुदरा विक्रेताओं से खरीद ऑर्डर देना होगा।

इससे पहले दिल्ली सरकार ने अपनी आबकारी नीति में कई बड़े बदलाव किए। इसके बाद अब दिल्ली में शराब की दुकानें सरकार नहीं चलाएगी। यानी, अब यहां सरकारी ठेके नहीं होंगे। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सोमवार को आबकारी नीतियों में किए बदलावों की जानकारी दी थी। उन्होंने कहा था कि शराब की दुकान चलाना सरकार की जिम्मेदारी नहीं है।

पढ़ें :- ज्ञानवापी परिसर के पुरातात्विक सर्वेक्षण आदेश को हाईकोर्ट में चुनौती देगा सुन्नी वक्फ बोर्ड

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X