1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कुश्ती का दंगल अब पहुंचा कोर्ट, बृजभूषण के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों को दी चुनौती

कुश्ती का दंगल अब पहुंचा कोर्ट, बृजभूषण के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों को दी चुनौती

भारतीय कुश्ती संघ (Wrestling Federation of India) के अध्यक्ष व भारतीय जनता पार्टी के सांसद बृजभूषण शरण सिंह (Bharatiya Janata Party MP Brij Bhushan Sharan Singh) की तरफ से दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) में याचिका दायर कर विनेश फोगाट सहित अन्य पहलवानों के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज करने की मांग की गई है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। भारतीय कुश्ती संघ (Wrestling Federation of India) के अध्यक्ष व भारतीय जनता पार्टी के सांसद बृजभूषण शरण सिंह (Bharatiya Janata Party MP Brij Bhushan Sharan Singh) की तरफ से दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) में याचिका दायर कर विनेश फोगाट सहित अन्य पहलवानों के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज करने की मांग की गई है। याचिका में कहा गया है कि विनेश ने बृजभूषण के ऊपर यौन शोषण (Sexual Harassment)का आरोप लगाकर उनको बदनाम करने की कोशिश की है। विनेश समेत अन्य प्रदर्शनकारी पहलवानों के खिलाफ याचिका दायर हुई है।

पढ़ें :- Centre vs Collegium : 'सुप्रीम कोर्ट ने संविधान को किया हाईजैक', किरेन रिजिजू ने पूर्व जज का बयान किया शेयर

याचिका में गया है कि पहलवानों ने न्याय का मजाक बनाकर यौन उत्पीड़न कानूनों का पूरी तरह से दुरुपयोग किया है। याचिका में जिक्र किया गया है कि अगर किसी खिलाड़ी का यौन उत्पीड़न (Sexual Harassment) हुआ, तो उन्हे कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए थी। याचिका में कहा गया है कि इस तरह का आरोप लगाकर बृजभूषण को पद से हटाने की साजिश रची गई है। हालांकि, बृजभूषण खुद इस याचिका के बारे में जानकारी होने से इंकार कर रहे हैं।

याचिका में पहलवानों के खिलाफ FIR दर्ज करने की मांग

याचिका में विनेश फोगाट, बजरंग पूनिया और अन्य पहलवानों के खिलाफ FIR दर्ज करने का आदेश देने की मांग की गई है, जिन्होंने बृजभूषण शरण सिंह पर यौन उत्पीड़न (Sexual Harassment) के आरोप लगाए हैं। वहीं, वकील शारिकसंत प्रसाद ने याचिका दाखिल करने के बाद बताया कि यह याचिका विक्की नाम के शख्स ने दाखिल की है, जो बृजभूषण के आधिकारिक आवास पर रहता है, और उनके लिए खाना बनाता है। याचिका में आरोप लगाया गया है कि धरना देने वाले खिलाड़ियों ने सार्वजनिक रूप से महिला पहलवानों के यौन उत्पीड़न के गंभीर आरोप लगाकर बृजभूषण की प्रतिष्ठा और सम्मान को धूमिल करने की हदें पार कर दी हैं।

जानें बृजभूषण शरण सिंह ने क्या कहा?

पढ़ें :- Wrestlers Protest : खेल मंत्रालय का बड़ा एक्शन, कुश्ती संघ के अतिरिक्त सचिव को किया सस्पेंड

बृजभूषण शरण सिंह ने कहा कि दिल्ली उच्च न्यायालय में मेरी तरफ से या मेरी ओर से किसी अधिकृत व्यक्ति की तरफ दिल्ली सरकार, धरना देने वाले पहलवानों और न्यूज़ चैनलों के खिलाफ कोई याचिका प्रस्तुत नहीं की गई है। सांसद ने कहा कि मेरे दिल्ली आवास का पता दिखाकर विक्की के नाम से जो याचिका प्रस्तुत करने की खबर जो न्यूज़ चैनल पर दिखाई जा रही है उस खबर का मै खंडन करता हूं। उन्होंने कहा कि मैने किसी अधिवक्ता, लॉ एजेंसी और प्रतिनिधि को किसी न्यायालय में याचिका प्रस्तुत की अनुमति या अधिकार प्रदान नहीं किया है।

भारतीय कुश्ती महासंघ (Wrestling Federation of India) के अध्यक्ष और भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह (Bharatiya Janata Party MP Brij Bhushan Sharan Singh) का आरोप है कि इस पूरे मामले के पीछे कांग्रेस और हरियाणा की हुड्डा लॉबी का हाथ है। अब हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष व भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Bhupendra Singh Hudda) ने बृजभूषण शरण सिंह (Bharatiya Janata Party MP Brij Bhushan Sharan Singh)  को तीखा जवाब दिया। अब ये मामला अदालत पहुंच चुका है।

पढ़ें :- कुश्ती और महिला पहलवानों की इज्जत के साथ खिलवाड़ करने की राजनैतिक साजिश का करूंगा पर्दाफाश, नहीं दूंगा इस्तीफा : बृजभूषण

भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह  के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया जाएगा : भूपेंद्र सिंह हुड्डा 

उन्होंने कहा कि भारतीय कुश्ती महासंघ (Wrestling Federation of India)  के अध्यक्ष पर पहलवानों की ओर से लगाए गए आरोप काफी गंभीर हैं और इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा सांसद की ओर से इस पूरे प्रकरण में बेवजह उनका और उनके बेटे दीपेंद्र सिंह हुड्डा का नाम घसीटने की कोशिश की गई है। उन्होंने कहा कि इस मामले में भाजपा सांसद के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया जाएगा। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वे इस बाबत अपने वकीलों से विचार विमर्श करने में जुटे हुए हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री ने रोहतक में अपने आवास पर मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि देश के लिए पदक जीतने वाले खिलाड़ी हमारे देश की शान हैं। उनकी ओर से लगाए गए आरोपों की निष्पक्ष तरीके से जांच पड़ताल की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों की ओर से लगाए गए आरोप काफी गंभीर हैं और उन्हें न्याय मिलना चाहिए। विश्व कुश्ती महासंघ (World Wrestling Federation) के अध्यक्ष की कार्यप्रणाली को लेकर पहले भी शिकायतें सामने आती रही हैं। इसलिए पूरे प्रकरण की गंभीरता से जांच किया जाना जरूरी है। हुड्डा ने कहा कि हरियाणा के खेल मंत्री पर लगाया गया आरोप भी काफी गंभीर है और उसकी भी जांच की जानी चाहिए। इस मामले की जांच से पहले खेल मंत्री को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...