1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. ताइवान को बिना लड़े ही जीतना चाहता है चीन, जानिए क्या है ‘आर्ट ऑफ वार’ की रणनीति

ताइवान को बिना लड़े ही जीतना चाहता है चीन, जानिए क्या है ‘आर्ट ऑफ वार’ की रणनीति

अमेरिकी संसद की स्पीकर नैन्सी पेलोसी (Nancy Pelosi) ताइवान (Taiwan) दौरे पर पहुंची हैं। नैन्सी पेलोसी (Nancy Pelosi) के ताइवान पहुंचते ही चीन आगबबूला हो गया है, जिसको लेकर वो धमकियां देना शुरू कर दिया है। यही नहीं ताइवन (Taiwan)  को उसने घेरकर सैन्य अभ्यास भी शुरू कर दिया है, जिसे उसकी दबाव बनाने की रणनीति के तौर पर देखा जा रहा है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। अमेरिकी संसद की स्पीकर नैन्सी पेलोसी (Nancy Pelosi) ताइवान (Taiwan) दौरे पर पहुंची हैं। नैन्सी पेलोसी (Nancy Pelosi) के ताइवान पहुंचते ही चीन आगबबूला हो गया है, जिसको लेकर वो धमकियां देना शुरू कर दिया है। यही नहीं ताइवन (Taiwan)  को उसने घेरकर सैन्य अभ्यास भी शुरू कर दिया है, जिसे उसकी दबाव बनाने की रणनीति के तौर पर देखा जा रहा है।

पढ़ें :- माध्यमिक शिक्षा की मजबूती को मुख्यमंत्री देंगे 25 करोड़ रुपये का उपहार, 3 मार्च को साढ़े चार हजार विद्यार्थियों को मिलेगा स्मार्टफोन व टैबलेट

मीडिया रिपोर्ट की माने तो ताइवान (Taiwan) पर दबाव बनाने के लिए चीन हमले भी कर सकता है। हालांकि, चीन की राजनीति को समझने वाले लोग इससे इनकार कर रहे हैं। वहीं, इस बीच खबर आ रही है कि अब चीन ने ‘आर्ट ऑफ वार‘ के तहत ताइवान को बिना लड़े ही जीतने की कोशिशें शुरू कर दी हैं।

दरअसल, ‘आर्ट ऑफ वार‘ चीनी सैन्य रणनीतिकार और विचारक कहे जाने वाले सुन त्यू का सिद्धांत है। दरअसल, 500 ईसा पूर्व उन्होंने इस नाम से एक किताब लिखी थी, जिसमें लिखा गया था कि दुश्मन को हराने के लिए जमकर तैयारी किया जाए कि सामने वाला खुद ही सरेंड कर दें।

चीन की युद्ध रणनीति में इस आर्ट ऑफ वार की छाप हमेशा ही दिखी है। भारत के साथ डोकलाम, लद्दाख जैसे इलाकों में सीमा का अतिक्रमण कर महीनों तक तनाव बनाए रखना और दबाव में लाने की कोशिश करना भी ऐसी ही एक रणनीति का हिस्सा है।

पढ़ें :- हाई कोर्ट की ​हरियाणा सरकार पर सख्त टिप्पणी, कहा- बिना पूछे न दी जाए राम रहीम को पैरोल, 10 मार्च को करे सरेंडर
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...