HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Delhi Liquor Scam : सीएम केजरीवाल की न्यायिक हिरासत बढ़ी, अंतरिम जमानत याचिका भी खारिज

Delhi Liquor Scam : सीएम केजरीवाल की न्यायिक हिरासत बढ़ी, अंतरिम जमानत याचिका भी खारिज

दिल्ली शराब घोटाला (Delhi Liquor Scam) से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले (Money Laundering Case) में बुधवार को राउज एवेन्यू कोर्ट (Rouse Avenue Court)  ने अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की न्यायिक हिरासत (Judicial Custody) को बढ़ा दिया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। दिल्ली शराब घोटाला (Delhi Liquor Scam) से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले (Money Laundering Case) में बुधवार को राउज एवेन्यू कोर्ट (Rouse Avenue Court)  ने अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की न्यायिक हिरासत (Judicial Custody) को बढ़ा दिया है। वहीं अंतरिम जमानत याचिका को खारिज करते हुए संबंधित विभाग को केजरीवाल के स्वास्थ्य को लेकर निर्देश दिए हैं।

पढ़ें :- नीट परीक्षा में कथित गड़बड़ियों पर सुप्रीम कोर्ट का NTA-केंद्र को नोटिस, कहा-'0.001% भी लापरवाही हुई है तो...'

शराब नीति मामले में राउज एवेन्यू कोर्ट (Rouse Avenue Court) ने दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल की न्यायिक हिरासत (Judicial Custody) को बढ़ा दिया है। 19 जून तक न्यायिक हिरासत (Judicial Custody) में रहना होगा। आज उन्हें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेश किया गया। वहीं दूसरी तरफ राउज एवेन्यू कोर्ट (Rouse Avenue Court) ने सीएम केजरीवाल को सात दिन की अंतरिम जमानत याचिका को खारिज कर दिया है।

केजरीवाल व आप के खिलाफ पूरक आरोप

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Chief Minister Arvind Kejriwal) एवं आम आदमी पार्टी (AAP) के खिलाफ आबकारी नीति से जुड़े धन शोधन मामले में दाखिल पूरक आरोप पत्र पर संज्ञान लेने के मुद्दे पर अदालत ने अपना फैसला टाल दिया है। राऊज एवेन्यू कोर्ट (Rouse Avenue Court) के विशेष न्यायाधीश कावेरी बावेजा अब इस मुद्दे पर 9 जुलाई को फैसला लेंगी। न्यायाधीश ने इस मुद्दे पर सभी पक्षों को सुनने के बाद 28 मई को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

पत्र पर संज्ञान लेने का फैसला 9 जुलाई को

पढ़ें :- NEET परीक्षा विवाद के बीच 18 जून को दिल्ली में जंतर-मंतर पर और 19 को करेगी देशव्यापी विरोध प्रदर्शन

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने आरोप पत्र में कहा है कि राजधानी में शराब के व्यापार में निवेश करने की एवज में पंजाब के व्यापारियों से भी रिश्वत ली गई थी। उसने यह भी कहा कि आम आदमी पार्टी (AAP) शासित पंजाब के उन व्यापारियों को पड़ोसी राज्य में शराब कारोबार में निवेश नहीं करने दिया गया, जिन्होंने रिश्वत नहीं दी थी। पहली बार धन शोधन निवारण अधिनियम (PMLA) के तहत किसी राजनीतिक पार्टी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

केजरीवाल ने तिहाड़ में किया आत्मसमर्पण

दिल्ली के मंत्री कैलाश गहलोत (Delhi minister Kailash Gehlot) ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) द्वारा दी गई निर्धारित तारीख के अनुसार दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने आत्मसमर्पण कर दिया है। वह राजघाट, हनुमान मंदिर गए और पार्टी नेताओं से भी मिले। सीएम केजरीवाल ने हमें उनके बारे में न सोचने और काम करने के लिए कहा है।’

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...