HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. भाजपा उम्मीदवार जस्टिस अभिजीत गंगोपाध्याय के खिलाफ चुनाव आयोग का बड़ा एक्शन,अगले 24 घंटे तक प्रचार पर लगाई रोक

भाजपा उम्मीदवार जस्टिस अभिजीत गंगोपाध्याय के खिलाफ चुनाव आयोग का बड़ा एक्शन,अगले 24 घंटे तक प्रचार पर लगाई रोक

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal Chief Minister Mamata Banerjee) पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में चुनाव आयोग (Election Commission) ने भाजपा उम्मीदवार जस्टिस अभिजीत गंगोपाध्याय (BJP candidate Justice Abhijit Gangopadhyay) की कड़ी निंदा की है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal Chief Minister Mamata Banerjee) पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में चुनाव आयोग (Election Commission) ने भाजपा उम्मीदवार जस्टिस अभिजीत गंगोपाध्याय (BJP candidate Justice Abhijit Gangopadhyay) की कड़ी निंदा की है। साथ ही भाजपा उम्मीदवार पर 21 मई को शाम के पांच बजे से लेकर अगले 24 घंटे तक चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी है। आयोग ने भाजपा नेता को आदर्श आचार संहिता (Model Code of Conduct) के तहत अपने सार्वजनिक बयानों में सावधानी बरतने की भी चेतावनी दी है।

पढ़ें :- जून में गर्मी और महंगाई लोगों के छुड़ा रही पसीने, दाल, दूध-सब्जियों के दामों में लगी आग, चुनाव बाद आम जनता को क्यों मिली यह मार?

पढ़ें :- PM Kisan Yojana : पीएम मोदी वाराणसी में 18 जून को पीएम किसान योजना की 17वीं किस्त करेंगे जारी

बता दें कि हल्दिया में 15 मई को एक सार्वजनिक बैठक को संबोधित करते समय भाजपा उम्मीदवार गंगोपाध्याय (BJP candidate Justice Abhijit Gangopadhyay) ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Chief Minister Mamata Banerjee)के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी की थी। टीएमसी ने चुनाव आयोग (Election Commission)  को शिकायत देकर कार्रवाई की मांग की थी। चुनाव आयोग (Election Commission) ने गंगोपाध्याय को कारण बताओ नोटिस भेजा था, जिसका 20 मई शाम पांच बजे तक जवाब मांगा था।

लोकसभा चुनाव 2024 (Lok Sabha Elections 2024) में गंगोपाध्याय चौथे राजनेता हैं जिन्हें महिलाओं के खिलाफ अशोभनीय टिप्पणी के लिए नोटिस भेजा गया है। वहीं, भाजपा के वरिष्ठ नेता दिलीप घोष और कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत ने भी क्रमश: ममता बनर्जी (Mamata Banerjee)और कंगना रणौत के खिलाफ अशोभनीय टिप्पणी की थी, जिसके बाद चुनाव आयोग (Election Commission) ने दोनों को कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा था और दोनों की टिप्पणियों की निंदा की थी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...