1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. पर्यावरणविद सुंदर लाल बहुगुणा का निधन, कोरेाना से संक्रमित होने के बाद ऋषिकेश एम्स में थे भर्ती

पर्यावरणविद सुंदर लाल बहुगुणा का निधन, कोरेाना से संक्रमित होने के बाद ऋषिकेश एम्स में थे भर्ती

पर्यावरणविद सुंदर लाल बहुगुणा (94) का निधन हो गया। शुक्रवार दोपहर 12 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। तबियत खराब होने पर उन्हें एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया था। बताया जा रहा है कि वह कोरोना से संक्रमित थे। सुंदर लाल बहुगुणा चिपकों आंदोलन के प्रणेता थे।

By शिव मौर्या 
Updated Date

ऋषिकेश। पर्यावरणविद सुंदर लाल बहुगुणा (94) का निधन हो गया। शुक्रवार दोपहर 12 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। तबियत खराब होने पर उन्हें एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया था। बताया जा रहा है कि वह कोरोना से संक्रमित थे। सुंदर लाल बहुगुणा चिपकों आंदोलन के प्रणेता थे।

पढ़ें :- प्रो. पीके मिश्रा का इस्तीफा, तो विनय पाठक पर गंभीर आरोपों के बाद राजभवन की 'मेहरबानी' का क्या है 'राज'?

उनके निधन की खबर सुनकर पूरे राज्य में शोक की लहर है। आखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश में भर्ती 94 वर्षीय पर्यावरणविद सुंदर लाल बहुगुणा को कोरोना निमोनिया हुआ था। सिपेप मशीन सपोर्ट पर उनका ऑक्सीजन सेचूरेशन लेवल 86 फीसदी पर आ गया था।

इसको देखते हुए डॉक्टर आक्सीजन और ब्लड शुगर लेवल मेंटेन करने में जुटे हुए थे। हालांकि, इस बीच उनका निधन हो गया। गौरतलब है कि पर्यावरणविद पदमविभूषण और स्वतंत्रता सं्रग्राम सेनानी सुंदरलाल बहुगुणा का जन्म नौ जनवरी 1927 को टिहरी जिले में भागीरथी नदी किनारे बसे मरोड़ा गांव में हुआ। उनके पिता अंबादत्त बहुगुणा टिहरी रियासत में वन अधिकारी थे।

 

पढ़ें :- Parliament Live : पीएम मोदी, बोले- '2004 से 14 तक घोटालों का दशक, UPA ने मौकों को मुसीबत में पलटा'
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...