1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. पर्यावरणविद सुंदर लाल बहुगुणा का निधन, कोरेाना से संक्रमित होने के बाद ऋषिकेश एम्स में थे भर्ती

पर्यावरणविद सुंदर लाल बहुगुणा का निधन, कोरेाना से संक्रमित होने के बाद ऋषिकेश एम्स में थे भर्ती

पर्यावरणविद सुंदर लाल बहुगुणा (94) का निधन हो गया। शुक्रवार दोपहर 12 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। तबियत खराब होने पर उन्हें एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया था। बताया जा रहा है कि वह कोरोना से संक्रमित थे। सुंदर लाल बहुगुणा चिपकों आंदोलन के प्रणेता थे।

By शिव मौर्या 
Updated Date

ऋषिकेश। पर्यावरणविद सुंदर लाल बहुगुणा (94) का निधन हो गया। शुक्रवार दोपहर 12 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। तबियत खराब होने पर उन्हें एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया था। बताया जा रहा है कि वह कोरोना से संक्रमित थे। सुंदर लाल बहुगुणा चिपकों आंदोलन के प्रणेता थे।

पढ़ें :- Big Breaking: उत्तराखंड की राज्यपाल बेबीरानी मौर्य ने दिया इस्तीफा, UP चुनाव में मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी
Jai Ho India App Panchang

उनके निधन की खबर सुनकर पूरे राज्य में शोक की लहर है। आखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश में भर्ती 94 वर्षीय पर्यावरणविद सुंदर लाल बहुगुणा को कोरोना निमोनिया हुआ था। सिपेप मशीन सपोर्ट पर उनका ऑक्सीजन सेचूरेशन लेवल 86 फीसदी पर आ गया था।

इसको देखते हुए डॉक्टर आक्सीजन और ब्लड शुगर लेवल मेंटेन करने में जुटे हुए थे। हालांकि, इस बीच उनका निधन हो गया। गौरतलब है कि पर्यावरणविद पदमविभूषण और स्वतंत्रता सं्रग्राम सेनानी सुंदरलाल बहुगुणा का जन्म नौ जनवरी 1927 को टिहरी जिले में भागीरथी नदी किनारे बसे मरोड़ा गांव में हुआ। उनके पिता अंबादत्त बहुगुणा टिहरी रियासत में वन अधिकारी थे।

 

पढ़ें :- अब दिल्ली में भी कांवड़ यात्रा बैन, कोरोना के चलते लिया फैसला
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...