1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Gyanvapi masjid survey : असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- ज्ञानवापी मस्जिद कयामत तक रहेगी इंशाअल्लाह

Gyanvapi masjid survey : असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- ज्ञानवापी मस्जिद कयामत तक रहेगी इंशाअल्लाह

वाराणसी कोर्ट के आदेश पर ज्ञानवापी मस्जिद परिसर का सर्वे का काम पूरा हो गया है। सर्वे के आखिरी दिन हिंदू पक्ष के वकील ने दावा किया कि कुएं के अंदर शिवलिंग मिला है। तो वहीं, मुस्लिम पक्षकार ने इस दावे को साफ नकार दिया है। कहा कि अंदर ऐसा कुछ नहीं मिला।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। वाराणसी कोर्ट के आदेश पर ज्ञानवापी मस्जिद परिसर का सर्वे का काम पूरा हो गया है। सर्वे के आखिरी दिन हिंदू पक्ष के वकील ने दावा किया कि कुएं के अंदर शिवलिंग मिला है। तो वहीं, मुस्लिम पक्षकार ने इस दावे को साफ नकार दिया है। कहा कि अंदर ऐसा कुछ नहीं मिला।

पढ़ें :- माध्यमिक शिक्षा की मजबूती को मुख्यमंत्री देंगे 25 करोड़ रुपये का उपहार, 3 मार्च को साढ़े चार हजार विद्यार्थियों को मिलेगा स्मार्टफोन व टैबलेट

हालांकि इन दावों के बीच यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने ट्वीट कर कहा कि सत्य को आप कितना भी छुपा लीजिए, लेकिन एक दिन सामने आ ही जाता है। क्योंकि “सत्य ही शिव” है। बाबा की जय, हर हर महादेव। केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर ज्ञानवापी में बाबा महादेव के प्रकटीकरण ने देश की सनातन हिंदू परंपरा को एक पौराणिक संदेश दिया है।

पढ़ें :- हाई कोर्ट की ​हरियाणा सरकार पर सख्त टिप्पणी, कहा- बिना पूछे न दी जाए राम रहीम को पैरोल, 10 मार्च को करे सरेंडर

इस बयान पर पलटवार करते हुए AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ज्ञानवापी मस्जिद थी, और कयामत तक रहेगी इंशाअल्लाह। यह बाबरी मस्जिद में दिसंबर 1949 की पाठ्यपुस्तक की पुनरावृत्ति है। यह आदेश ही मस्जिद के धार्मिक स्वरूप को बदल देता है। यह 1991 के एक्ट का उल्लंघन है। यह मेरी आशंका थी और यह सच हो गया है।

कोर्ट पहुंचा मामला

पढ़ें :- NAUTANWA:हवाला कारोबारी से लूट के मामले में तीसरा आरोपी गिरफ्तार-वीडियो

शिवलिंग मिलने का मामला वाराणसी की सेशन कोर्ट पहुंच गया है। बताया जा रहा है कि जिस जगह पर शिवलिंग मिलने का दावा किया जा रहा है, कोर्ट ने उस जगह को सील करने का आदेश जारी किया है। वाराणसी कोर्ट ने जिलाधिकारी को आदेश देते हुए कहा कि उस स्थान को तत्काल प्रभाव से सील कर दें और किसी भी व्यक्ति को वहां जाने न दें। इसकी जिम्मेदारी जिला प्रशासन और सीआरपीएफ को दी गई है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...