HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. पाकिस्तान में बलूचिस्तान प्रांत में भीषण बारिश का कहर जारी, 39 की मौत, सरकार को लगाना पड़ा आपातकाल

पाकिस्तान में बलूचिस्तान प्रांत में भीषण बारिश का कहर जारी, 39 की मौत, सरकार को लगाना पड़ा आपातकाल

पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत (Balochistan Province) में लगातार तीन दिनों से बारिश जारी है। इसके चलते गलियां तालाब बन चुकी हैं। कई जगह सड़कें बह गई हैं। यही नहीं हालात इतने भीषण हैं कि सरकार ने बलूचिस्तान में आपातकाल घोषित (Emergency Declared) कर दिया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत (Balochistan Province) में लगातार तीन दिनों से बारिश जारी है। इसके चलते गलियां तालाब बन चुकी हैं। कई जगह सड़कें बह गई हैं। यही नहीं हालात इतने भीषण हैं कि सरकार ने बलूचिस्तान में आपातकाल घोषित (Emergency Declared) कर दिया है। इस बारिश के चलते देश के अलग-अलग अब तक 39 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें से 12 लोगों की मौत अकेले रविवार को ही खैबर पख्तूनख्वा में ही हो गई। इसके अलावा पंजाब में 4 और बलूचिस्तान में दो लोगों की मौत हो गई। बलूचिस्तान के मकरान में रविवार को भी भीषण बारिश हुई और कई जगहों पर बिजली भी गिरी। इन घटनाओं में दो और लोगों की मौत हो गई।

पढ़ें :- इंडी गठबंधन की मानसिकता ही महिला विरोधी है...पीएम मोदी का विपक्षी दलों पर निशाना

इसके साथ ही बलूचिस्तान में मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 10 हो गई है। हालात इतने विकट हैं कि बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा में इमरजेंसी घोषित की गई है। बलूचिस्तान सरकार ने अर्बन फ्लड इमरजेंसी घोषित (Urban Flood Emergency Declared) की है और सीएम सरफराज बुगती (CM Sarfaraz Bugti)ने ऑनलाइन मीटिंग बुलाकर हालात का जायजा लिया है। इस बारिश की वजह से पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में भी हालात बिगड़ गए हैं। पाकिस्तान के पीएम शहबाज शरीफ (Pakistan PM Shahbaz Sharif) ने भी हालात से निपटने के लिए मीटिंग बुलाई है। उन्होंने बैठक के बाद कहा कि हमने बचाव दलों को आदेश दिया है कि वे तत्काल लोगों को मदद करें।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस बारिश से यह भी उम्मीद है कि जलाशयों को थोड़ा पानी मिल सकेगा। कई जगहों पर झीलें और तालाब सूखने के कगार पर थे। अब इस बारिश से थोड़ी राहत मिलेगी। अफगानिस्तान (Afghanistan) में भी भारी बारिश के चलते 33 लोगों की मौत हुई है और 27 जख्मी हो गए हैं। तालिबान (Taliban) के शासन वाले अफगानिस्तान (Afghanistan) में भारी बारिश की वजह से कई जगहों पर घर भी गिर गए हैं। अब तक मिली जानकारी के अनुसार अफगानिस्तान (Afghanistan)  में करीब 600 मकान जमींदोज हो गए, जबकि 200 जानवर भी मारे गए हैं। इस बाढ़ से बड़े पैमाने पर खेती योग्य जमीन को भी नुकसान पहुंचा है और सड़कें भी टूट गई हैं।

बलूचिस्तान के सीएम सरफराज बुगती (Balochistan CM Sarfaraz Bugti) ने कहा कि बारिश की वजह से हालात इसलिए भी बिगड़े हैं क्योंकि कई जगहों पर नाले जाम हैं। इसकी वजह से बारिश का पानी बहने की बजाय सड़कों पर ही भरा रह गया। पाकिस्तान डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी के प्रवक्ता युनूस मेंगल ने कहा कि रातोंरात बचाव कार्य शुरू हो गया है। बलूचिस्तान सरकार के प्रवक्ता शाहिद हमीद रिंद (Balochistan Government Spokesperson Shahid Hameed Rind) ने कहा कि क्वेटा के पूरे स्टाफ की छुट्टियों को रद्द कर दिया गया है। इसके अलावा सभी स्कूलों एवं अन्य संस्थानों को सोमवार और मंगलवार को बंद रखने का आदेश दिया गया है।

पढ़ें :- नरेंद्र मोदी आदिवासी समाज से करते हैं नफ़रत , ये बीजेपी वाले अब ख़ुद को भगवान से भी बड़ा समझने लग गये हैं : अरविंद केजरीवाल
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...