1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Jay Prakash Nishad Jeevan Parichay: तीसरी बार जीत दर्ज कर सत्रहवीं विधान सभा में मंत्री है भाजपा के ये निषाद नेता

Jay Prakash Nishad Jeevan Parichay: तीसरी बार जीत दर्ज कर सत्रहवीं विधान सभा में मंत्री है भाजपा के ये निषाद नेता

आज हम आपको बताएंगे देवरिया जिले के 336, रुद्रपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक जय प्रकाश निषाद के बारे में। ये विधानसभा क्षेत्र उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल के देवरिया जिले के विधानसभा में आता है। यहां भाजपा से विधायक हैं जय प्रकाश निषाद इस विधानसभा से जीत दर्ज कर के कुल तीसरी बार विधानभवन पहुंचे हैं।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

Jay Prakash Nishad Jeevan Parichay: आज हम आपको बताएंगे देवरिया(Devariya) जिले के 336, रुद्रपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक जय प्रकाश निषाद के बारे में। ये विधानसभा क्षेत्र उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल के देवरिया जिले के विधानसभा में आता है। यहां भाजपा से विधायक हैं जय प्रकाश निषाद(Nishad) इस विधानसभा से जीत दर्ज कर के कुल तीसरी बार विधानभवन पहुंचे हैं। जय प्रकाश निषाद का जन्म 1 अक्टूबर,1960 को स्व0 सत्यदेव के घर में हुआ। जय प्रकाश निषाद का जन्म स्थान रुद्रपुर(Rudrapur) (देवरिया) जिला है। सुरेश तिवारी हिन्दू धर्म(Hindu Religon) के पिछड़ी जाति से आते हैं। विधायक जी स्नातक तक पढ़े लिखें हैं। जय प्रकाश निषाद राज्य मंत्री(State Minister), पशुधन मत्स्य एवं राज्य सम्पति, नगर भूमि (श्री योगी आदित्यनाथ मंत्रिमण्डल) भी हैं।

पढ़ें :- Kailash Nath Shukla jeevan parichay : संगठन से लेकर सत्ता तक का कैलाश नाथ शुक्ल ने यूं तय किया सफर
पिता का नामस्व0 सत्यदेव
जन्‍म तिथि1 अक्टूबर,1960
जन्‍म स्थानरुद्रपुर (देवरिया)
धर्महिन्दू
जातिपिछड़ी जाति
शिक्षास्नातक (शास्त्री)
पत्‍नी का नामश्रीमती आरती देवी
सन्तानएक पुत्र, दो पुत्रियाँ
व्‍यवसायकृषि
मुख्यावासग्राम व पोस्ट– लक्ष्मीपुरबाया रुद्रपुरजनपददेवरिया।
राजनीतिक योगदान
1991-1993विधान सभा के सदस्य प्रथम बार निर्वाचित
1996-2002बारहवीं विधान सभा के सदस्य दूसरी बार निर्वाचित
1997-1998सदस्य, नियम समिति
मार्च, 2017सत्रहवीं विधान सभा के सदस्य तीसरी बार निर्वाचित
मार्च,2017राज्य मंत्री, पशुधन मत्स्य एवं राज्य सम्पति, नगर भूमि (श्री योगी आदित्यनाथ मंत्रिमण्डल)
अन्‍य जानकारीसदस्य, प्राक्कल समिति, तथा अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों संबंधी सुंयुक्त समिति, केशव शिक्षा समिति तथा सरस्वती शिक्षण संस्थान देवरिया के 7 वर्ष तक प्रबन्धक रहे । सन 1990 में राम जन्म भूमि आन्दोलन में जिला कारागार में बंदी रहे  ।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...