1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. लालू ने मुलायम से की ‘चाय पर चर्चा’ बोले- देश को पूंजीवाद और साम्प्रदायवाद नहीं समाजवाद की आवश्यकता

लालू ने मुलायम से की ‘चाय पर चर्चा’ बोले- देश को पूंजीवाद और साम्प्रदायवाद नहीं समाजवाद की आवश्यकता

लम्बे अर्से बाद राजनीति के दो माहिर खिलाडी देश के  दो प्रमुख समाजवादी धुरंधरों ने सोमवार को दिल्ली में चाय पर चर्चा की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुई हैं। इससे यूपी व बिहार का सियासी पारा गर्म होना तय माना जा रहा है। यूपी के आगामी वर्ष 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव (UP Assembly elections) से जोड़कर देखा जा रहा है।बता दें कि सोमवार को नई दिल्ली में समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) ने राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) से मुलाकात की है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। लम्बे अर्से बाद राजनीति के दो माहिर खिलाडी देश के  दो प्रमुख समाजवादी धुरंधरों ने सोमवार को दिल्ली में चाय पर चर्चा की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुई हैं। इससे यूपी व बिहार का सियासी पारा गर्म होना तय माना जा रहा है। यूपी के आगामी वर्ष 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव (UP Assembly elections) से जोड़कर देखा जा रहा है।

पढ़ें :- न्यायालयों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कर , अविलंब अधिवक्ता प्रोटक्शन एक्ट लागू करे योगी सरकार : मुलायम सिंह यादव
Jai Ho India App Panchang

लालू-मुलायम की मुलाकात के बीच अखिलेश यादव की मौजूदगी अहम

बता दें कि सोमवार को नई दिल्ली में समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) ने राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) से मुलाकात की है। इस मुलाकात के दौरान मुलायम सिंह यादव के पुत्र सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी मौजूद थे। इन दोनों दिग्गजों की मुलाकात की तस्वीरें यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने सोमवार को ट्विटर पर साझा की है। मुलायम सिंह यादव ने सोमवार को संसद के सत्र में भी भाग लिया है। सोशल मीडिया पर साझा की गई फोटो में दोनों नेता चाय पीते नज़र आ रहे हैं।

देश को लोकसमता एंव समाजवाद की अत्यन्त आवश्यकता : लालू यादव 

इस मुलाकात के बाद लालू यादव ने भी ट्वीट करते हुए लिखा कि देश के वरिष्ठतम समाजवादी साथी आदरणीय श्री मुलायम सिंह जी से मुलाकात कर उनका कुशलक्षेम जाना। खेत-खलिहान, ग़ैर-बराबरी, अशिक्षा, किसानों, गरीबों व बेरोजगारों के लिए हमारी सांझी चिंताएं और लड़ाई है। आज देश को पूंजीवाद और सम्प्रदायवाद नहीं बल्कि लोकसमता एवं समाजवाद की अत्यंत आवश्यकता है।

बता दें कि राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) इन दिनों ज़मानत पर बाहर आए हैं। फिलहाल अभी नई दिल्ली में ही अपनी बेटी और सांसद मीसा भारती के आवास पर रुके हुए हैं। हाल ही के दिनों में उन्होंने मुलाकातों का दौर शुरू किया है। इससे पहले उन्होंने राष्ट्रवादी कांग्रेस के प्रमुख शरद पवार ने भी से मुलाकात की थी।

इससे पहले समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव ने भी शरद पवार के साथ ही लालू यादव से मिले थे। खास बात यह है कि ये मुलाकातें अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले हो रही हैं। यूपी चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी और एनसीपी का गठबंधन हुआ है, इसके अलावा अन्य विपक्षी दल भी समाजवादी पार्टी के साथ आ सकते हैं।

बता दें कि समाजवादी पार्टी अगले साल होने वाले यूपी चुनाव की तैयारियों में जुटी है। सपा ने तय किया है कि इस बार वह किसी बड़े राजनीतिक दल से गठबंधन नहीं करेगी। इसके इतर सपा छोटे दलों के साथ गठबंधन ज़रूर कर रही है।

पढ़ें :- कोरोना कॉल में अधिवक्ताओं के परिवार के लिए सरकारों ने कोई समुचित व्यवस्था नहीं की : मुलायम सिंह यादव
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...