1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. हैवानियत की हदें पार: 10 वर्षीय बच्ची के साथ पादरी ने किया यौन शोषण, 50 रु दे कहा…

हैवानियत की हदें पार: 10 वर्षीय बच्ची के साथ पादरी ने किया यौन शोषण, 50 रु दे कहा…

क्या दुनिया में कही बेटियां आज सेफ नहीं हैं? महिलाओं बच्चियों के प्रति हो रहे अत्याचार थमने का नाम ही नहीं ले रहे लगातार ऐसे किस्से सुनने में आते राहतें हैं लेकिन आज हम आपको आंध्र प्रदेश के काकीनाडा स्थित सर्पवरम में पादरी द्वारा 10 वर्षीय नाबालिग बच्ची का यौन शोषण किए जाने का मामला सामने में आया है। जिसे सुन आपके होश उड़ जाएंगे। 

By आराधना शर्मा 
Updated Date

Limits Of Cruelty Crossed 10 Year Old Girl Was Sexually Abused By The Priest Said To Give 50 Rupees

विशाखापत्तनम: क्या दुनिया में कही बेटियां आज सेफ नहीं हैं? महिलाओं बच्चियों के प्रति हो रहे अत्याचार थमने का नाम ही नहीं ले रहे लगातार ऐसे किस्से सुनने में आते राहतें हैं लेकिन आज हम आपको आंध्र प्रदेश के काकीनाडा स्थित सर्पवरम में पादरी द्वारा 10 वर्षीय नाबालिग बच्ची का यौन शोषण किए जाने का मामला सामने में आया है। जिसे सुन आपके होश उड़ जाएंगे।

पढ़ें :- फिर बिगड़ी गुरमीत राम रहीम की तबीयत, एम्स में कराया गया भर्ती

आपको बता दें, पुलिस ने 46 साल के पादरी अलावला सुधाकर को अरेस्ट कर लिया है। रिपोर्ट के अनुसार, आरोपित काकीनाडा क्षेत्र के एक गाँव में पादरी है। रिपोर्ट में बताया गया है कि आरोपित पादरी ने 22 जून 2021 को यौन शोषण करने के साथ ही बच्ची के साथ मारपीट भी की थी।

बच्ची की मां को जैसे ही इस घटना के बारे में जानकारी मिली तो उन्होंने सर्पवरम थाने में पादरी के खिलाफ यौन शोषण की शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद पुलिस ने आरोपी को अरेस्ट कर लिया।  पादरी के खिलाफ POCSO एक्ट के विभिन्न प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया। आरोपी को अदालत में पेश किया गया था, जहाँ से कोर्ट ने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

बहला-फुसलाकर झोपड़ी में किया दुर्व्यवहार

सर्पवरम सर्किल के इंस्पेक्टर बी राजशेखर ने बताया है कि, ‘काकीनाडा के रहने वाले पादरी की शिनाख्त अलवला सुधाकर के रूप में हुई है। 22 जून 2021 को वह शहर में हुए एक समारोह में वह शामिल हुआ था। इसी दौरान आरोपित ने कथित तौर पर लड़की को पास की एक झोपड़ी में ले जाकर उसके साथ दुर्व्यवहार किया।’ मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि 22 जून को आरोपित पादरी एक कार्यक्रम में शामिल हुआ था। वहीं पर 10 वर्षीय बच्ची भी आई हुई थी।

आरोपित सुधाकर बच्ची को बहला-फुसलाकर अपने साथ चर्च से दूर ले गया और उसके साथ गलत काम किया। मदद के लिए गुहार लगाने पर पादरी ने बच्ची को 50 रुपए का का नोट पकड़ाकर इसके संबंध में किसी से कुछ नहीं बताने के लिए कहा। हालाँकि, ग्रामीणों और परिजनों के बार-बार पूछने पर पीड़िता ने पूरी आपबीती सुना दी। इसके बाद पीड़िता की माँ ने आरोपित पादरी के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। जिसके आधार पर पादरी को गिरफ्तार करते हुए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

पढ़ें :- पूर्व राष्ट्रपति कलाम साहब पर पुजारी का विवादित बयान, कहा-देश में शीर्ष पद पर काबिज कोई भी मुसलमान भारत समर्थक नहीं

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X