1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Maha Shivratri 2022 : भक्तों द्वारा महा शिवरात्रि पर जल से और दूध से किया जाता है अभिषेक, जानिए शुभ मुहूर्त

Maha Shivratri 2022 : भक्तों द्वारा महा शिवरात्रि पर जल से और दूध से किया जाता है अभिषेक, जानिए शुभ मुहूर्त

महाशिवरात्रि एक प्रसिद्ध हिंदू त्योहार है जो हर साल  भगवान शिव की श्रद्धा, समर्पण में मनाया जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार,फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को महाशिवरात्रि पर्व मनाया जाता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Maha Shivratri 2022 : महाशिवरात्रि एक प्रसिद्ध हिंदू त्योहार है जो हर साल  भगवान शिव की श्रद्धा, समर्पण में मनाया जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार,फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को महाशिवरात्रि पर्व मनाया जाता है। इस बार इस बार महाशिवरात्रि 1 मार्च 2022,मंगलवार को मनाई जाएगी। कश्मीर शैव मत में इस त्यौहार को हर-रात्रि और बोलचाल में ‘हेराथ’ या ‘हेरथ’ भी कहा जाता हैं। महाशिवरात्रि के पर्व पर मॉरीशस और नेपाल में भी एक सार्वजनिक अवकाश होता है। दुनियाभर में भगवान भोलेनाथ को समर्पित यह त्यौहार बहुत धूमधाम से मनाया जाता है।

पढ़ें :- Guru Purnima 2022 Date : गुरु पूर्णिमा के दिन भक्त गण अपने गुरू की पूजा करते है, धूमधाम से मनाते है उत्सव

इस बार महाशिवरात्रि 1 मार्च 2022, मंगलवार को है। चतुर्दशी तिथि सुबह 03 बजकर 16 मिनट से शुरू होकर 2 मार्च 2022 को सुबह 1 बजे समाप्त होगी। बता दें निशिता काल 2 मार्च 2022 को 12:08 AM से 12:58 AM तक यानी यानी 50 मिनट तक रहेगा। निशिता काल पूजा का शुभ मुहूर्त होता है।

भक्तों के द्वारा इस दिन शिवालयों में भगवान शिव का अभिषेक किया जाता है। भक्तों द्वारा महाशिवरात्रि के दिन अभिषेक जल से और दूध से किया जाता है। महाशिवरात्रि को जीवन और दुनिया में ‘अंधेरे और अज्ञान पर काबू पाने’ की याद में मनाया जाता है। इस दिन भगवान शिव को बेल (बेल के पेड़) के पत्ते चढ़ाकर, पूरे दिन उपवास और रात भर जागरण के द्वारा मनाया जाता है।

 

पढ़ें :- Char Dham Yatra 2022: चार धाम यात्रा के लिए  श्रद्धालुओं संख्या सीमित, एक दिन में इतने ही कर सकेंगे दर्शन
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...