1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Mehbooba Mufti बोलीं- हमारे सब्र का इम्तेहान मत लो, Taliban ने अमेरिका को भागने के लिए किया मजबूर

Mehbooba Mufti बोलीं- हमारे सब्र का इम्तेहान मत लो, Taliban ने अमेरिका को भागने के लिए किया मजबूर

जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti, former Chief Minister ) ने शनिवार को तालिबान (Taliban) के बहाने केंद्र पर अप्रत्यक्ष रूप से हमला बोला है। उन्होंने केंद्र सरकार से जम्मू कश्मीर के लोगों से बातचीत शुरू करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) को विशेष राज्य का दर्जा दोबारा दिया जाए। महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने कहा कि तालिबान (Taliban) ने अमेरिका (America) को भागने पर मजबूर किया है। उन्होंने कहा कि हमारे सब्र का इम्तेहान मत लो, जिस दिन सब्र का इम्तेहान टूटेगा, आप भी नहीं रहोगे और मिट जाओगे।

By संतोष सिंह 
Updated Date

जम्मू। जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti, former Chief Minister ) ने शनिवार को तालिबान (Taliban) के बहाने केंद्र पर अप्रत्यक्ष रूप से हमला बोला है। उन्होंने केंद्र सरकार से जम्मू कश्मीर के लोगों से बातचीत शुरू करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) को विशेष राज्य का दर्जा दोबारा दिया जाए। महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने कहा कि तालिबान (Taliban) ने अमेरिका (America) को भागने पर मजबूर किया है। उन्होंने कहा कि हमारे सब्र का इम्तेहान मत लो, जिस दिन सब्र का इम्तेहान टूटेगा, आप भी नहीं रहोगे और मिट जाओगे।

पढ़ें :- Breaking-कश्मीर में BJP-नेशनल कॉन्फ्रेंस का गठबंधन पक्का! फारूक अब्दुल्ला के तेवर तो यही दे रहे हैं संकेत

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि अगर केंद्र सरकार जम्मू कश्मीर में शांति सुनिश्चित करना चाहती है। तो उसे आर्टिकल 370 बहाल करना होगा और बातचीत के जरिए कश्मीर के मुद्दों को हल करना होगा।

यह बात महबूबा मुफ्ती ने कुलगाम में सभा को संबोधित करते हुए कहा कि अफगानिस्तान में तालिबान ने अमेरिका को भागने के लिए मजबूर किया, लेकिन तालिबान के बर्ताव पर पूरी दुनिया नजर रख रही है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैं तालिबान से अपील करती हूं कि वह वे ऐसा कोई काम न करें जो दुनिया को उनके खिलाफ जाने के लिए मजबूर करे। तालिबान में बंदूकों की भूमिका खत्म हो गई है और विश्व समुदाय देख रहा है कि वे लोगों के साथ कैसा व्यवहार करेंगे?

‘अगर 1947 में भाजपा सत्ता में होती, तो कश्मीर भारत में नहीं होता’

पीडीपी चीफ ने कहा कि 1947 में तत्कालीन पीएम जवाहर लाल नेहरू ने जम्मू कश्मीर के नेतृत्व से वादा किया था कि लोगों की पहचान की हर तरह से रक्षा की जाएगी और विशेष राज्य का दर्जा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर आजादी के वक्त भाजपा सरकार में होती, तो जम्मू कश्मीर भारत का हिस्सा नहीं होता।

पढ़ें :- Gyanvapi Case Verdict : आग बबूला महबूबा मुफ्ती बोलीं - मस्जिदें गिराने में विश्व गुरू बन सकता है भारत

महबूबा मुफ्ती ने आरोप लगाया कि भाजपा कश्मीर में असंतोष को कुचलने के लिए एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है। उन्होंने कहा कि अगर भाजपा के लोगों की भावनाओं में सुधार नहीं होता, तो भारत सांप्रदायिक और धार्मिक आधार पर भागों में टूटने के लिए तैयार है।

जम्मू कश्मीर हमेशा से भारत का अभिन्न हिस्सा: निर्मला सीतारमण

महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) के बयान पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री को इस समय इस तरह का बयान देने से बचना चाहिए। जम्मू कश्मीर हमेशा से भारत का हिस्सा रहा है।

महबूबा मुफ्ती जम्मू कश्मीर में तालिबान राज चाहती हैं:रविंद्र रैना

जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir)  भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र रैना (BJP State President Ravindra Raina) ने पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती (PDP leader Mehbooba Mufti) के इस बयान को लेकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भारत मजबूत राष्ट्र है। हमारे पीएम नरेंद्र मोदी हैं, न कि जो बाइडेन। हम सभी आतंकवादियों को खत्म कर देंगे। महबूबा मुफ्ती देशद्रोही हैं। वे देशद्रोह में लिप्त हैं। उन्होंने जम्मू कश्मीर के देशभक्त लोगों का अपमान किया है। महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) कश्मीर में तालिबान (Taliban)  राज चाहती हैं, लेकिन हमारी सरकार सभी आतंकियों का सफाया कर देगी।

पढ़ें :- Mehbooba Mufti ने बदली ट्विटर प्रोफाइल, बरपा हंगामा, जम्मू-कश्मीर के अमान्य झंडे को बताया खुशी और गर्व का प्रतीक

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...