1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. लोकसभा में पेश हुआ ‘नारी शक्ति वंदन अधिनियम’ बिल, अधीर रंजन चौधरी बोले-हम अपनी मांग फिर से दोहराते हैं

लोकसभा में पेश हुआ ‘नारी शक्ति वंदन अधिनियम’ बिल, अधीर रंजन चौधरी बोले-हम अपनी मांग फिर से दोहराते हैं

संसद के विशेष सत्र का आज दूसरा दिन है। आज से नए संसद भवन में कार्यवाही शुरू हो गई है। नए संसद भवन से पीएम मोदी ने संबोधित किया। इसके साथ ही लोकसभा में नारी शक्ति वंदन बिल आज पेश हो गया है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Women Reservation Bill: संसद के विशेष सत्र का आज दूसरा दिन है। आज से नए संसद भवन में कार्यवाही शुरू हो गई है। नए संसद भवन से पीएम मोदी ने संबोधित किया। इसके साथ ही लोकसभा में नारी शक्ति वंदन बिल आज पेश हो गया है। इस बिल को कानून मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने लोकसभा में पेश किया। उन्होंने कहा कि लोकसभा और विधानसभा में महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण मिलेगा। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिला आरक्षण बिल को नारी शक्ति वंदन अधिनियम नाम दिया। उन्होंने कहा कि इस बिल से लोकतंत्र मजबूत होगा और लोकसभा में महिलाओं की भागीदारी बढ़ेगी।

पढ़ें :- 10 साल में डॉलर और सोना की बढ़ती गई चमक, मोदी राज में लगातार कमजोर होता गया रुपया... कौन देगा जवाब?

नए सदन की कल्पना नई नहीं है
वहीं, लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chaudhary) ने कहा कि हम देश को आगे ले जाएंगे। देश की ताकत और बढ़ाएंगे। नए सदन की कल्पना नई नहीं है। हमारे पूर्व लोकसभा की स्पीकर मीरा कुमार जी ने यह मुद्दा उठाया था और कहा था कि हमारा जो भवन चुप होकर रोते हैं, उन्हें नया करना चाहिए। हमारी महिला लोकसभा की अध्यक्षा रहीं सुमित्रा महाजन भी नए संसद की गुहार लगाती थीं। अच्छा हुआ देर सवेर नया संसद हमें मिला है। जो सरकार आज सत्ता में है, उसकी पहल के चलते नया सदन बना है। यह हम सबका है। किसी पार्टी का नहीं, व्यक्ति का नहीं। पूर्व पीएम नेहरू कहते थे कि देश में व्यक्ति पूजा नहीं होनी चाहिए। यह हमारी देश की संपदा है। अटल जी भी कहते थे कि होने ना होने का क्रम यूं ही चलता रहेगा लेकिन हम रहेंगे यह भ्रम भी सदा पालते रहेंगे।

महिला आरक्षण का बिल आज तक जीवित
इसके साथ ही अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chaudhary) ने कहा लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि, डॉ. मनमोहन सिंह जी के समय राज्यसभा में पास हुआ महिला आरक्षण बिल आज तक जीवित है। हमारी CWC की बैठक में भी यह मांग की गई है कि महिला आरक्षण के बिल को पास किया जाए। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जी ने महिला आरक्षण बिल के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को पत्र भी लिखा था। हम महिला आरक्षण बिल को पारित करने की अपनी मांग को फिर से दोहराते हैं।

 

पढ़ें :- Lok Sabha Elections 2024: पीएम मोदी बोले-कांग्रेस हर उस काम का विरोध करती है, जो देशहित में होता है
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...