1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. गंगा विलास क्रूज और टेंट सिटी के साथ काशी में नये युग की हुई शुरुआत : योगी

गंगा विलास क्रूज और टेंट सिटी के साथ काशी में नये युग की हुई शुरुआत : योगी

आज का दिन हम सब के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। बीते 8 साल में बदलते भारत को पूरी दुनिया ने देखा है और काशी के लिए तो आज से संभावनाओं की एक नई यात्रा का शुभारंभ हुआ है। ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को वाराणसी में रिवर क्रूज यात्रा के शुभारंभ और गंगा पार बनी टेंट सिटी के उद्घाटन समारोह के दौरान कही।

By शिव मौर्या 
Updated Date

वाराणसी। आज का दिन हम सब के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। बीते 8 साल में बदलते भारत को पूरी दुनिया ने देखा है और काशी के लिए तो आज से संभावनाओं की एक नई यात्रा का शुभारंभ हुआ है। ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को वाराणसी में रिवर क्रूज यात्रा के शुभारंभ और गंगा पार बनी टेंट सिटी के उद्घाटन समारोह के दौरान कही। एमवी गंगा विलास क्रूज के माध्यम से काशी से डिब्रूगढ़ तक 3200 किलोमीटर की विश्व की सबसे लंबी रिवर क्रूज यात्रा का शुभारंभ और गंगातट पर बनी टेंट सिटी का उद्घाटन समारोह शुक्रवार को रविदास घाट पर आयोजित हुआ। पीएम मोदी इस समारोह में वर्चुअली उपस्थित रहे।

पढ़ें :- यूपी देश के टॉप-4 राज्यों में शामिल, 75 लाख से अधिक नल कनेक्शन देने का आंकड़ा किया पार

काशी अपनी विरासत को संरक्षित रखते हुए वैश्विक मानचित्र पर उभरी है
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हर हर महादेव के जयघोष के साथ अपना उद्बोधन शुरू किया। उन्होंने कहा कि दुनिया की सबसे प्राचीन नगरी काशी दुनिया की आध्यात्मिक और सांस्कृतिक राजधानी के रूप में विख्यात है। प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में काशी अपनी विरासत को संरक्षित रखते हुए वैश्विक मानचित्र पर उभरी है। आज का दिन काशी के साथ ही बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल और असम के लिए भी बहुत ऐतिहासिक है। यूपी को हमेशा इस बात की तड़प रहती थी कि लैंड लॉक स्टेट होने के कारण हमारे कृषि और एमएसएमई के उत्पादों को अन्तरराष्ट्रीय बाजारों में भेजना महंगा पड़ता था। व्यापारी सदैव इसे लेकर परेशान रहते थे। विगत तीन वर्ष के अंदर पूर्वी बंदरगाह से काशी को जोड़ने का जो कार्य हुआ है, उसके लिए उत्तर प्रदेश प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त करता है।

काशी में पर्यटन के नये युग की शुरुआत
मुख्यमंत्री ने एमवी गंगा विलास क्रूज के शुभारंभ को काशी में पर्यटन के नये युग की शुरुआत बताया। उन्होंने कहा कि विश्वनाथ धाम बनने के साथ ही काशी में पर्यटकों और श्रद्धालुओं की संख्या कई गुना बढ़ी है। इसके साथ ही संभावनाओं के नये द्वार भी खुले हैं। गंगा विलास रिवर क्रूज की आगे की दो वर्ष की एडवांस बुकिंग इसका जीता जागता प्रमाण है। काशी आज नई पहचान के साथ आगे बढ़ रहा है। इससे एक भारत, श्रेष्ठ भारत के अभियान को भी बल मिल रहा है।

आज नाविक एक ही सीजन में पूरे साल की कमाई कर ले रहा है
मुख्यमंत्री ने कहा कि आज का कार्यक्रम नमामि गंगा की सफलता की नई ऊंचाई को प्रदर्शित करता है। बीते आठ साल में मां गंगा का जल आचमन तो दूर स्नान के लिए लोगों में आशंकाएं उत्पन्न करता था। आज नमामि गंगा अभियान सफलता की ऊंचाई छूते हुए आगे बढ़ा है। 2019 में प्रयागराज कुंभ की सफलता इसी नमामि गंगा की सफलता की कहानी का प्रत्यक्ष प्रमाण है। गंगा के साथ अपनी आजीविका को जोड़ने वाले काशी के 16 सौ से ज्यादा नाविकों के जीवन में परिवर्तन आया है। सरकार ने नाविक की नावों को सीएनजी से जोड़ने का कार्य किया। आज यहां का हर नाविक एक ही सीजन में पूरे साल की कमाई कर ले रहा है। ये नमामि गंगा परियोजना की सफलता तो है ही, साथ ही नाविकों के स्वावलंबन को भी दर्शाता है।

पढ़ें :- Shanti Bhushan Passes Away: पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण नहीं रहे, 97 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

समारोह में ये सम्मानित हस्तियां रहीं शामिल
भारत सरकार के पत्तन, पोत परिवहन एवं जलमार्ग मंत्रालय की ओर से आयोजित कार्यक्रम में ऑनलाइन जुड़े प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अलावा वाराणसी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोणोवाल शामिल हुए। इसके अलावा असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा और बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ऑनलाइन जुड़े। कार्यक्रम में केंद्रीय राज्यमंत्री श्रीपद्नायक, हल्दिया से शांतनु ठाकुर भी ऑनलाइन जुड़े। स्वागत भाषण केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोणोवाल ने दिया। इसके अलावा बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा ने भी ऑनलाइन संबोधित किया।

पीएम ने हजार करोड़ की योजनाओं का किया शिलान्यास और लोकार्पण
इस दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हजार करोड़ से ज्यादा की योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। पीएम मोदी ने बटन दबाकर काशी में गंगा पार टेंट सिटी का उद्घाटन किया। इसके अलावा हल्दिया मल्टी मॉडल टर्मिनल और यूपी की चार सामुदायिक जेटी का लोकार्पण तथा बिहार की पांच सामुदायिक जेटी का शिलान्यास किया। पीएम मोदी ने बटन दबाकर असम के पांडु के शिप रिपेयर सेंटर और पांडु टर्मिनल को राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ने वाली एलिवेटेड रोड का शिलान्यास किया तथा गुवाहाटी में मैरीटाइम स्किल सेंटर फॉर नॉर्थ ईस्ट का लोकार्पण किया।

 

 

पढ़ें :- Budget 2023: लोगों को बजट से क्या हैं उम्मीदें? किसानों के लिए किए जा सकते हैं खास ऐलान
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...