1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Nirmala Sitharaman बोलीं-RBI का डिजिटल रुपया साल 2023 तक आ सकता है बाजार में

Nirmala Sitharaman बोलीं-RBI का डिजिटल रुपया साल 2023 तक आ सकता है बाजार में

भारत डिजिटल करेंसी (Digital Currency) जल्द लांच करने की दिशा में तेजी से बढ़ रहा है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने बताया कि भारत का लक्ष्य 2023 तक डिजिटल करेंसी (Digital Currency) पेश करना है। यह बात उन्होंने FICCI के एक कार्यक्रम में इस संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब में कही। वित्‍त मंत्री ने कहा कि सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) डिजिटल करेंसी (Digital Currency) के विभिन्‍न व्यावसायिक उपयोग की संभावनाओं को टटोलने में लगे हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्‍ली। भारत डिजिटल करेंसी (Digital Currency) जल्द लांच करने की दिशा में तेजी से बढ़ रहा है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने बताया कि भारत का लक्ष्य 2023 तक डिजिटल करेंसी (Digital Currency) पेश करना है। यह बात उन्होंने FICCI के एक कार्यक्रम में इस संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब में कही। वित्‍त मंत्री ने कहा कि सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) डिजिटल करेंसी (Digital Currency) के विभिन्‍न व्यावसायिक उपयोग की संभावनाओं को टटोलने में लगे हैं।

पढ़ें :- India and New Zealand: न्यूजीलैंड को हराकर भारत ने सीरीज में की 1-1 की बराबरी

निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार का इरादा डिजिटल करेंसी से केवल वित्‍तीय समावेशन के उद्देश्‍यों को पूरा करना नहीं है, बल्कि इसके साथ ही विभिन्‍न व्‍यावसायिक लक्ष्‍यों को प्राप्‍त करना भी है। उन्‍होंने कहा कि सरकार जेएएम त्रिवेणी (जन धन-आधार-मोबाइल) के माध्‍यम से वित्‍तीय समावेशन के लक्ष्‍यों को हासिल कर रही है।

सरकार सभी इंडस्‍ट्रीज में डिजिटल लेने-देन को दे रही है बढ़ावा 

एक रिपोर्ट के अनुसार निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार सभी इंडस्‍ट्रीज में डिजिटल लेने-देन को बढ़ावा दे रही है। सरकार का जोर सभी सेक्‍टर्स का तेजी से लगातार डिजिटाइजेशन करना है। इसीलिए सरकार ने बजट में डिजिटल करेंसी, डिजिटल बैंक्‍स और डिजिटल यूनिवर्सिटी बनाने की घोषणा की थी। डिजिटल करेंसी अधिक सस्‍ती और कुशल मुद्रा प्रणाली को बढ़ावा देगी। इसीलिए सरकार ने डिजिटल रुपया लाने, ब्‍लॉकचेन और अन्‍य टेक्‍नोलॉजिज का प्रयोग करने का फैसला किया है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा विकसित रूपी ब्‍लॉकचेन सभी ट्रांजेक्‍शंस को ट्रेक करने में होगा सक्षम 

पढ़ें :- Naba Kishor Das Attack Update: गोली लगने से घायल ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री की मौत, ASI ने मारी थी गोली

उन्‍होंने कहा कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा विकसित रूपी ब्‍लॉकचेन सभी ट्रांजेक्‍शंस को ट्रेक करने में सक्षम होगा। अभी प्राइवेट कंपनियों द्वारा मोबाइल वॉलेट का जो सिस्‍टम चलाया जा रहा है। उसमें सभी ट्रांजेक्‍शंस को ट्रेक नहीं किया जा सकता।

वित्‍तमंत्री ने कहा भारतीय रिजर्व बैंक को डिजिटल करेंसी लाने की जिम्‍मेदारी दी गई

बता दें कि बजट में वित्‍तमंत्री ने कहा भारतीय रिजर्व बैंक को डिजिटल करेंसी लाने की जिम्‍मेदारी दी गई है। वहीं, भारत ने अभी क्रिप्‍टोकरेंसी को मान्‍यता नहीं दी है। बजट में वित्‍त मंत्री ने क्रिप्‍टो से हुई कमाई पर 30 फीसदी टैक्‍स और एक फीसदी टीडीएस लगाने की घोषणा की थी। क्रिप्‍टो नियमन को लेकर भारत का कहना है कि वह जल्‍दबाजी में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर कोई फैसला नहीं लेगा। क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर जो आशंकाएं है, उनका निराकरण होने पर ही भारत इसके नियमन को लेकर कोई फैसला लिया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...