HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. Nobel Peace Prize 2022: नोलेब शांति पुरस्कार में बेलारूस के मानवाधिकार कार्यकर्ता के साथ रूस-यूक्रेन की दो संस्थाएं चुनी गईं

Nobel Peace Prize 2022: नोलेब शांति पुरस्कार में बेलारूस के मानवाधिकार कार्यकर्ता के साथ रूस-यूक्रेन की दो संस्थाएं चुनी गईं

नोबेल शांति पुरस्कार 2022 का ऐलान कर दिया गया है। ये नोबेल शांति पुरस्कार एक व्यक्ति और दो संस्थाओं को दिया गया है। बेलारूस के मानवाधिकार कार्यकर्ता एलेस बियालियात्स्की (Ales Bialiatski) के अलावा दो संस्थाओं मेमोरियल (Memorial) और सेंटर फॉर सिविल लिबर्टीज (Center for civil Liberties) के नामों का ऐलान किया गया है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Nobel Peace Prize 2022: नोबेल शांति पुरस्कार 2022 का ऐलान कर दिया गया है। ये नोबेल शांति पुरस्कार एक व्यक्ति और दो संस्थाओं को दिया गया है। बेलारूस के मानवाधिकार कार्यकर्ता एलेस बियालियात्स्की (Ales Bialiatski) के अलावा दो संस्थाओं मेमोरियल (Memorial) और सेंटर फॉर सिविल लिबर्टीज (Center for civil Liberties) के नामों का ऐलान किया गया है। इसमें मेमोरियल रूस में कार्यरत है तो सेंटर फॉर सिविल लिबर्टीज यूक्रेनी संस्था है।

पढ़ें :- Parliament Session 2024 : बरेली सांसद छत्रपाल गंगवार ने शपथ लेने के बाद ये कहा 'जय हिंदू राष्ट्र', तो लोकसभा में मचा हंगामा

बता दें कि, पिछले साल नोबेल शांति पुरस्कार दो पत्रकारों, रूस के दिमित्री मुरातोव और फिलीपीन्स के मारिया रेसा को दिया गया था। तब उन्हें यह पुरस्कार लोकतंत्र और शांति की अहम जरूरत, फ्रीडम ऑफ स्पीच की हिफाजत के लिए दिया गया था।

इस बार ये पुरस्कार युद्ध अपराधों, मानवाधिकारों के हनन और सत्ता के दुरुपयोग का दस्तावेजीकरण के लिए दिया गया है। साथ ही शांति व लोकतंत्र की स्थापना के लिए नागरिक समाज के महत्व पर जोर दिया। विजेताओं ने अपने देश में वर्षों से आलोचना के अधिकार के साथ ही जनता के मूल अधिकारों की वकालत की।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...