1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Omicron blast in Lucknow : ओमिक्रोन वेरिएंट से संक्रमित 106 मरीज मिलने से फैली राजधानी में दहशत

Omicron blast in Lucknow : ओमिक्रोन वेरिएंट से संक्रमित 106 मरीज मिलने से फैली राजधानी में दहशत

Omicron blast in Lucknow : यूपी की राजधानी लखनऊ में 106 मरीज ओमिक्रोन संक्रमित पाए गए हैं। इन सभी मरीजों का सैंपल जीनोम सीक्वेसींग के जांच के लिए भेजा गया था। इन सभी मरीजों का सैंपल कोरोना पॉजिटिव होने के 10-12 दिन बाद लिया गया था। इन सभी की जांच रिपोर्ट मंगलवार को आई है, जिसकी जानकारी राज्य स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Omicron blast in Lucknow : यूपी की राजधानी लखनऊ में 106 मरीज ओमिक्रोन संक्रमित पाए गए हैं। इन सभी मरीजों का सैंपल जीनोम सीक्वेसींग के जांच के लिए भेजा गया था। इन सभी मरीजों का सैंपल कोरोना पॉजिटिव होने के 10-12 दिन बाद लिया गया था। इन सभी की जांच रिपोर्ट मंगलवार को आई है, जिसकी जानकारी राज्य स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी है।

पढ़ें :- तैयारियां पूरी:सांसद खेल स्पर्धा का कल से होगा आगाज-विधायक ऋषि त्रिपाठी

106 मरीज मिले ओमिक्रोन पॉजिटिव

विशेषज्ञों ने बताया कि कोरोना का ओमिक्रोन वेरिएंट लखनऊ में डेल्टा वेरिएंट की जगह काफी तेजी से जगह ले रहा है। वहीं अधिकारिक सूत्रों की मानें तो किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में जीनोम सीक्वेसींग की जांच के लिए 132 सैंपल भेंजा गया था। जिसमें से 106 सैंपलों में ओमिक्रोन वेरिएंट पाया गया है। अधिकारिक सूत्रों की मानें तो दूसरे राज्यों या विदेश से आने वालों के संपर्क में आने वालों को ही ओमिक्रोन वेरिएंट से संक्रमित पाया गया है। उन्होंने बताया कि राज्य भर से जीनोम सीक्वेंसिंग की जांच के लिए गए 90 फीसदी सैंपल ओमिक्रोन संक्रमित पाए गए हैं। कोविड सर्वेलांस ऑफिसर डॉ. विकाशेंदू अग्रवाल ने बताया कि इस जांच के बाद माना जा रहा है कि राज्य में अब डेल्टा वेरिएंट की जगह ओमिक्रोन वेरिएंट ले रहा है।

ओमिक्रोन का लंग्स पर प्रभाव कम

एक्सपर्ट ने बताया कि जिनको वैक्सीन लग चुकी है। उनके शरीर में बनी एंटी बाडी ओमिक्रोन वेरिएंट से काफी रक्षा कर रही है। उन्होंने बताया कि डेल्टा वेरिएंट की तुलना में ओमिक्रोन वेरिएंट का लंग्स में भी प्रभाव कम रहा है। विशेषज्ञों कहा कि डेल्टा वेरिएंट के कारण आई दूसरी लहर के तुलना में ओमिक्रोन वेरिएंट के कारण आई तीसरी लहर के दौरान पॉजिटिविटी रेट काफी ज्यादा है। केजीएमयू के सीएमओ ने कहा कि राज्य प्रशासन ने अभी तक संक्रमितों की विस्तृत जानकारी हमें साझा नहीं की है। हमें जैसे ही जानकारी दी मिलेगी। हम जल्द ही उनके उपर विशेष ध्यान देंगे।

पढ़ें :- Good Initiative : स्टेट नेशनल होम्योपैथिक मेडिक​ल कॉलेज व हॉस्पिटल लखनऊ के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. जितेंद्र कुमार ने मरीजों की सेवा कर मनाया जन्म दिन

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...