1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. पीएम मोदी ने नेताजी की होलोग्राम प्रतिमा का किया अनावरण, बोले-वर्तमान और आने वाली पीढ़ी को मिलेगी इससे प्रेरणा

पीएम मोदी ने नेताजी की होलोग्राम प्रतिमा का किया अनावरण, बोले-वर्तमान और आने वाली पीढ़ी को मिलेगी इससे प्रेरणा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने रविवार शाम नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Subhash Chandra Bose) की जयंती के अवसर पर इंडिया गेट पर उनकी होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण किया। इस बार 23 जनवरी से ही गणतंत्र दिवस समारोह मनाया जा रहा है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने रविवार शाम नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Subhash Chandra Bose) की जयंती के अवसर पर इंडिया गेट पर उनकी होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण किया। इस बार 23 जनवरी से ही गणतंत्र दिवस समारोह मनाया जा रहा है। इस मौके पर पीएम मोदी (Pm Modi) ने कहा कि, जिन्होंने भारत की धरती पर पहली आज़ाद सरकार को स्थापित किया था, हमारे उन नेताजी की भव्य प्रतिमा आज डिजिटल स्वरूप में इंडिया गेट के समीप स्थापित हो रही है। जल्द ही इस होलोग्राम प्रतिमा के स्थान पर ग्रेनाइट की विशाल प्रतिमा भी लगेगी।

पढ़ें :- हमें चैन से बैठने का कोई हक नहीं, जानिए पीएम मोदी ने भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं से क्यों कहीं ये बात?

पीएम मोदी (Pm Modi) ने कहा कि, नेताजी कहते थे “कभी भी स्वतंत्र भारत के सपने का विश्वास मत खोना, दुनिया की कोई ताकत नहीं है जो भारत को झकझोर सके।” आज हमारे सामने आज़ाद भारत के सपनों को पूरा करने का लक्ष्य है। हमारे सामने आज़ादी के सौंवे साल से पहले नए भारत के निर्माण का लक्ष्य है।

आज़ादी के अमृत महोत्सव का संकल्प है कि भारत अपनी पहचान और प्रेरणाओं को पुनर्जीवित करेगा। ये दुर्भाग्य रहा कि आजादी के बाद देश की संस्कृति और संस्कारों के साथ ही अनेक महान व्यक्तित्वों के योगदान को मिटाने का काम किया गया।

पीएम (Pm Modi) ने कहा कि, ये मेरा सौभाग्य है कि पिछले वर्ष, आज के ही दिन मुझे कोलकाता में नेताजी के पैतृक आवास पर भी जाने का अवसर मिला था। जिस कार से वो कोलकाता से निकले थे, जिस कमरे में बैठकर वो पढ़ते थे, उनके घर की सीढ़ियां, उनके घर की दीवारें, उनके दर्शन करना, वो अनुभव, शब्दों से परे है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, नेताजी सुभाष कुछ ठान लेते थे तो फिर उन्हें कोई ताकत रोक नहीं पाती थी। हमें नेताजी सुभाष की ‘Can Do, Will Do’ स्पिरिट से प्रेरणा लेते हुए आगे बढ़ना है।

 

पढ़ें :- Gyanvapi Case : 'शिवलिंग' पर विवादित बयान देने वाले प्रोफेसर ने पीएम मोदी से मांगा AK-56 का लाइसेंस

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...