1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. राहुल गांधी ने ट्विटर कार्यालय पर छापेमारी को लेकर कसा तंज, बोले- सत्य डरता नहीं

राहुल गांधी ने ट्विटर कार्यालय पर छापेमारी को लेकर कसा तंज, बोले- सत्य डरता नहीं

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कथित ‘कोविड टूलकिट’ मामले में दिल्ली पुलिस की ओर से माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर कार्यालय पर छापेमारी की है। इसके एक दिन बाद राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा कि सत्य डरता नहीं है। राहुल गांधी ने हैशटैग टूलकिट के साथ ट्वीट किया कि सत्य डरता नहीं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कथित ‘कोविड टूलकिट’ मामले में दिल्ली पुलिस की ओर से माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर कार्यालय पर छापेमारी की है। इसके एक दिन बाद राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा कि सत्य डरता नहीं है। राहुल गांधी ने हैशटैग टूलकिट के साथ ट्वीट किया कि सत्य डरता नहीं।

पढ़ें :- Parliament Winter Session 2021: राहुल गांधी बोले-सरकार के पास मृत किसानों का आंकड़ा नहीं लेकिन मेरे पास है

बता दें कि भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने टूलकिट को लेकर एक ट्वीट किया था। ट्विटर ने इस ट्वीट को ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ बताया था। इस पर कार्रवाई करते हुए दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने ट्विटर को नोटिस भेजा है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने ट्विटर से पूछा कि ऐसे क्या तथ्य हैं कंपनी के पास, जिसके आधार पर उसने टूलकिट को लेकर किए गए ट्वीट को ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ बताया। बाद में दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ की टीम ने कथित ‘कोविड टूलकिट’ मामले की जांच के संबंध में ट्विटर इंडिया के दिल्ली और गुरुग्राम स्थित कार्यालयों पर सोमवार की शाम छापेमारी की।

टूलकिट मामले में ट्विटर के कार्यालयों पर दिल्ली पुलिस की छापेमारी के एक दिन बाद राहुल गांधी ने तंज कसते हुए ट्वीट किया, ‘सत्य डरता नहीं।’ साथ ही हैशटैग टूलकिट का इस्तेमाल किया।

बता दें कि संबित पात्रा ने केंद्र सरकार के कोरोना प्रयासों को बदनाम करने के लिए कांग्रेस पर ‘टूलकिट’ का सहारा लेने का दावा किया, लेकिन ट्विटर ने संबित के इस ट्वीट को ही ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ बता दिया। इसके बाद केंद्र सरकार ने इस आपत्ति जताई।

भाजपा का आरोप है कि कांग्रेस ने एक टूलकिट बनाकर कोरोना वायरस के नए स्वरूप को ‘भारतीय स्वरूप’ या ‘मोदी स्वरूप’ बताया। देश तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की छवि खराब करने का प्रयास किया। हालांकि, कांग्रेस ने आरोपों को खारिज करते हुए दावा किया था कि भाजपा उसे बदनाम करने के लिये फर्जी ‘टूलकिट’ का सहारा ले रही है। कांग्रेस ने भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ पुलिस में ‘जालसाजी’ का मामला भी दर्ज कराया है।

पढ़ें :- राहुल और वरुण गांधी आए एक साथ, अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज को लेकर योगी सरकार को घेरा
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...