1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Rail Roko Andolan : राकेश टिकैत बोले- जब तक अजय मिश्रा हैं मंत्री तब तक ईमानदारी से जांच असंभव

Rail Roko Andolan : राकेश टिकैत बोले- जब तक अजय मिश्रा हैं मंत्री तब तक ईमानदारी से जांच असंभव

किसान संगठनों (Farmer's Organizations) ने सोमावर को 6 घंटे के रेल रोको आंदोलन (Rail Roko Andolan)  के तहत सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक देश भर में जगह-जगह ट्रेन रोकी जा रही है। पंजाब, हरियाणा और यूपी में किसानों के रेल रोको आंदोलन (Rail Roko Andolan) का असर ज्यादा है। किसान रेल पटरियों पर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। किसान संगठनों (Farmer’s Organizations) ने सोमावर को 6 घंटे के रेल रोको आंदोलन (Rail Roko Andolan)  के तहत सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक देश भर में जगह-जगह ट्रेन रोकी जा रही है। पंजाब, हरियाणा और यूपी में किसानों के रेल रोको आंदोलन (Rail Roko Andolan) का असर ज्यादा है। किसान रेल पटरियों पर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं।

पढ़ें :- एक साल का लम्बा संघर्ष बेमिसाल,लड़ेंगे जीतेंगे, MSP किसानों का अधिकार : राकेश टिकैत

इसी बीच किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait ) ने कहा कि आज 6 घण्टे का रेल रोको आंदोलन का आवाहन किया गया। उन्होंने कहा कि ये किसान  आंदोलन इसलिए करने को मजबूर हुए हैं, क्योंकि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी (Union Minister of State for Home Ajay Mishra Teni) को अभी तक हटाया नहीं गया है। उन्होंने सवाल उठाया कि जब तक वो जब तक केंद्रीय गृह राज्यमंत्री की कुर्सी (Union Minister of State for Home ) पर बैठे रहेंगे तब तक जांच ईमानदारी से कैसे होगी? अजय टेनी को न केवल हटाया जाए, बल्कि गिरफ्तार भी किया जाए। उन्होंने कहा कि अगर नहीं हटाया जाता है तो अगला कदम उठाएंगे। राकेश टिकैत (Rakesh Tikait ) ने कहा कि उनका अगला कदम क्या होगा, वो भी जल्दी बताएंगे।

सिंघु बॉर्डर की घटना पर क्या बोले टिकैत?

सिंघु बॉर्डर की घटना पर राकेश टिकैत (Rakesh Tikait ) ने कहा कि जिन लोगों ने वो किया है, उन्होंने ज़िम्मेदारी ले ली है। किसान मोर्चा के उसमें कुछ नहीं लेना है। इस घटना के बारे में निहंग अपनी ज़िम्मेदारी ले चुके हैं। किसानों का इस घटना से कोई लेना देना नहीं है। बैनर तो यहां बहुत संगठनों के लगे हुए हैं। सब अलग अलग हैं।

लखीमपुर खीरी कांड के विरोध में किसानों ने ये आंदोलन किया है। किसानों की मांग है कि लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा (Union Minister of State for Home Ajay Mishra Teni)  को बर्खास्त किया जाए। किसानों के आंदोलन की वजह से लोगों को भारी दिक़्क़त का सामना करना पड़ रहा है।

पढ़ें :- जमीनी हकीकत से कोसों दूर पीएम मोदी का तिलिस्म टूटा ,जीत गया अन्नदाता और हार गई सरकार

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...