1. हिन्दी समाचार
  2. रिलेशनशिप
  3. Relationship Tips: देवरानी- जेठानी नहीं बेस्ट फ्रेंड जैसा मजबूत होगा रिश्ता, अपनाएं ये टिप्स

Relationship Tips: देवरानी- जेठानी नहीं बेस्ट फ्रेंड जैसा मजबूत होगा रिश्ता, अपनाएं ये टिप्स

कहा जाता है कि शादी सिर्फ दो लोगों का नहीं बल्कि दो परिवारों का मिलन होता है। हर लड़की जब दुल्हन बन कर ससुराल पहुंचती है तो उसके सामने नए रिश्ते होते है।

कहा जाता है कि शादी सिर्फ दो लोगों का नहीं बल्कि दो परिवारों का मिलन होता है। हर लड़की जब दुल्हन बन कर ससुराल पहुंचती है तो उसके सामने नए रिश्ते होते है। नई जगह, नए लोग और नए रिश्ते होते है जिन्हें समझना और जीवन भर के लिए संजोना एक चुनौती होती है। ऐसे ही रिश्तों में अहम रिश्ता होता है देवरानी और जेठानी का।

पढ़ें :- Relationship Tips: इन छोटी-छोटी चीजों को फॉलो करके आप अपनी शादीशुदा जीवन को बना सकती हैं खुशहाल

ऐसे में आपको अपने ससुराल में अपनी जेठानी या देवरानी (Devrani Jethani ) से उसी तरह से रहना चाहिए जिस तरह से आप शादी से पहले अपनी किसी सहेली के साथ रहती थी। जिस तरह से आप अपनी फ्रेंड के साथ हर बात को शेयर करती थीं ठीक उसी तरह आप अब भी कर सकती हैं।

इसके साथ ही आप अपने व्यवहार से यह भी साबित कर सकती हैं कि यदि आपको घर में कोई दोस्त चाहिए तो वह आप हो सकती हैं। यदि आप जेठानी हैं तो आप अपनी देवरानी पर राज करने की या धौस चलाने की कोशिश न करें। बल्कि उसके साथ प्रेम से पेश आएं।

यदि आप देवरानी हैं तो अपनी जेठानी का मान सम्मान रखते हुए घर के लिए उनके फैसलों को मानने की कोशिश करें। अगर जरुरी लगे तो आप अपनी राय जरूर दें। हो सकता है कुछ फैसलों में आपकी राय कारगर साबित हो। इस तरह से दोनों के बीच एक सकारात्मक रिश्ता कायम हो सकेगा।

परिवार में सास-ससुर और देवरानी जेठानी में झगड़े होना बेहद आम है। इसका कारण यह है कि दोनों ही अलग-अलग परिवार और माहौल से आती हैं। ऐसे में हो सकता है आपकी पसन्द एक-दूसरे से अलग हो। तमाम प्रकार के विरोधाभासों के बावजूद आपको रहना एक ही जगह है, इसके लिए जरूरी है कि आप दोनों अपने छोटे-छोटे विवादों को आपसी बातचीत के जरिये सुलझाने का प्रयास करें।

पढ़ें :- Relationship Tips: मैं ही सही .. वाला डिफेंसिव नेचर आपके रिश्ते को कर सकता है खोखला

क्योंकि किसी भी तरह का झगड़ा ज्यादा लंबे समय तक रिश्तों में दूरियाँ पैदा कर सकता है। वाद-विवाद को इतना न बढ़ने दें कि घर टूटने की नौबत आ जाए। इसके लिए दोनों को तय करना चाहिए कि जब भी किसी बात का बुरा लगे, कोई बात पसंद न आये, तो साफ-साफ बात कर इस मसले को सुलझा लें।

घर में अक्सर देवरानी जेठानी (Devrani Jethani ) के बीच घर के कामों को लेकर झगड़े होते रहते हैं । ऐसे में वह आपस में काम बांट कर घर का काम करती हैं लेकिन इनसे रिश्तों में दूरियाँ आ जाती हैं। ऐसे में आप दोनों को चाहिए कि घर के कामों में एक दूसरे की मदद करें और एक-दूसरे के कामों की प्रशंसा भी करें।

अगर कभी खाना बनाने या अन्य कामों में कोई गलती हो भी जाए है तो उसे नजरअंदाज करें और बहनों की तरह प्यार से रहे। कमियाँ हर किसी में होती हैं। ऐसे में एक घर में रहते हुए देवरानी को जेठानी की और जेठानी को देवरानी की कमियों के बारे में अच्छी तरह पता होता है।

बात तब बिगड़ती है, जब दोनों एक-दूसरे की कमियां परिवार वालों के सामने बताती हैं। कई बार ऐसा होता है कि वे अपने ससुराल की बातों को मायके वालों से बोल देती हैं जो आगे चलकर नुकसान दायक होता है। या फिर अपनी सास से अपनी देवरानी/जेठानी की कमियाँ बता देती हैं और सास भी नासमझी में जाकर यह बात दूसरी बहू को बता देती है, जिससे देवरानी-जेठानी में दूरियाँ बढऩे लगती हैं।

अच्छा होगा यदि आप एक-दूसरे की कमियों को किसी को बताने के बजाय उन्हें नजरअंदाज करें या अपने आप तक सीमित रखें। इससे दोनों का मान-सम्मान बना रहेगा।देवरानी-जेठानी के रिश्ते में मजबूत तब आती है जब दोनों एक साथ अपने समय को व्यतीत करती हैं। विपरीत दिशाओं में रहते हुए इस रिश्ते की डोर कमजोर होती है। प्रयास करके घर पर रहते हुए अपना समय आपस में बिताएँ। ससुराल में बहनों की तरह रहें। इन टिप्सों क फॉलो करके आप देवरानी और जेठानी नहीं बल्कि बेस्ट फ्रेंड की तरह साथ साथ रहेंगी।

पढ़ें :- इन बॉलीवुड सेलेब्स से सीखें कैसे निभाया जाता है रिश्ता, कैसे बने परफेक्ट कपल

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...