HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. सेहत
  3. Side effects of refined oil: अगर खाना पकाने में करती हैं रिफाइंड ऑयल का इस्तेमाल, तो जान ले इसके सेवन से होने वाले ये नुकसान

Side effects of refined oil: अगर खाना पकाने में करती हैं रिफाइंड ऑयल का इस्तेमाल, तो जान ले इसके सेवन से होने वाले ये नुकसान

आजकल अधिकतर घरों में खाना पकाने में सरसों के तेल की जगह रिफाइंड तेल का इस्तेमाल किया जा रहा है। बजाय ये जाने की यह सेहत के लिए कितना नुकसानदायक है। रिफाइंड ऑयल का अधिक इस्तेमाल करने से न सिर्फ मोटापा बल्कि बीपी और तमाम अन्य बीमारियां होने का खतरा रहता है। डाइटीशियन के अनुसार रिफाइंड ऑयल का इस्तेमाल करना सेहत के लिए नुकसानदायक होता है।

By प्रिन्सी साहू 
Updated Date

Side effects of refined oil:  आजकल अधिकतर घरों में खाना पकाने में सरसों के तेल की जगह रिफाइंड तेल (refined oil) का इस्तेमाल किया जा रहा है। बजाय ये जाने की यह सेहत के लिए कितना नुकसानदायक है। रिफाइंड ऑयल का अधिक इस्तेमाल करने से न सिर्फ मोटापा बल्कि बीपी और तमाम अन्य बीमारियां होने का खतरा रहता है। डाइटीशियन के अनुसार रिफाइंड ऑयल का इस्तेमाल करना सेहत के लिए नुकसानदायक होता है।

पढ़ें :- Benefits of Raisin water: पेट की तमाम समस्याओं के लिए फायदेमंद होता है किशमिश का पानी

पढ़ें :- डिलीवरी के बाद अक्सर बना रहता है सिर दर्द, तो हो सकते हैं ये कारण

क्योंकि रिफाइंड ऑयल (refined oil)  को बनाने की प्रक्रिया बहुत अलग होती है। इस तेल को बनाने के लिए सीड्स और नट्स को बहुत अधिक गर्म किया जाता है जिससे इसमें मौजूद पोषक तत्व खत्म हो जाते है। इतना ही नहीं इसमें से तेल निकालने के लिए हैक्सेन नामक केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है, जो नुकसान पहुंचाता है। बहुत ज्यादा हीट करने से रिफाइंड का रंग थोड़ा काला पड़ जाता है,जिसे सुधारने के लिए इमें ब्लीच डाला जाता है , ताकि वह अपने सामान्य रंग में आ सके।

इसलिए रिफाइंड ऑयल (refined oil)  का इस्तेमाल करने से हार्ट से संबंधित बीमारियों का खतरा बढ़ता है। इसे खाने से शरीर में फैट के साथ ही साथ एलडीएल कोलेस्ट्रॉल की भी बढ़ जाता है। रिफाइंड ऑयल को बनाने में इस्तेमाल किये जाने वाले केमिकल कैंसर जैसे रोगो का भी कारण बन सकता है। इतना ही नहीं वजन तेजी से बढ़ता है और शरीर में सूजन आ जाती है।

इसलिए हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार रिफाइंड ऑयल (refined oil)  की जगह ऑलिव ऑयल या सरससों के तेल का ही इस्तेमाल करें। मूंगफलीके तेल का भी इस्तेमाल कर सकती है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...