1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Breaking- कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा के ड्राइवर की मौत, पत्नी ने लगाया हत्या का आरोप

Breaking- कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा के ड्राइवर की मौत, पत्नी ने लगाया हत्या का आरोप

योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा (Cabinet minister Suresh Rana) के ड्राइवर अशोक कुमार वर्मा (Ashok Kumar Verma)  की हार्ट अटैक (Heart Attack) से मौत हो गई है। के निशातगंज के रहने वाले 58 साल के अशोक कुमार वर्मा (Ashok Kumar Verma)  की आमौसी एयरपोर्ट जाते वक्त तबीयत खराब हुई जब वो मंत्री को छोड़ने जा रहे थे। परिजनों का आरोप है कि अशोक वर्मा हार्ट और शुगर से जुड़ी बीमारी से पीड़ित होने के बावजूद उन्हें ड्यूटी पर लगा दिया गया।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा (Cabinet minister Suresh Rana) के ड्राइवर अशोक कुमार वर्मा (Ashok Kumar Verma)  की हार्ट अटैक (Heart Attack) से मौत हो गई है। के निशातगंज के रहने वाले 58 साल के अशोक कुमार वर्मा (Ashok Kumar Verma)  की आमौसी एयरपोर्ट जाते वक्त तबीयत खराब हुई जब वो मंत्री को छोड़ने जा रहे थे। परिजनों का आरोप है कि अशोक वर्मा हार्ट और शुगर से जुड़ी बीमारी से पीड़ित होने के बावजूद उन्हें ड्यूटी पर लगा दिया गया।

पढ़ें :- आजम खान को पड़ा दिल का दौरा, गंगाराम अस्पताल में कराया गया भर्ती

मिली जानकारी के अनुसार जब मंत्री को लेकर अशोक कुमार वर्मा (Ashok Kumar Verma) एयरपोर्ट की ओर जो रहे थे। उसी वक्त उनकी रास्ते में तबीयत खराब हो गई। इसके बाद में फिर दूसरे ड्राइवर को मंत्री के साथ भेजना पड़ा और अशोक वर्मा को सिविल अस्पताल पहुंचाया गया, जहां पर उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। ऐसे में अशोक कुमार वर्मा (Ashok Kumar Verma)  के परिजन हंगामा करते हुए ड्यूटी लगाने वाले मोटर इंचार्ज के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की मांग करते दिखे। ऐसे में एसीपी हजरतगंज ने परिवार वालों को कार्रवाई करने का आश्वासन दिया, लेकिन इसके बावजूद देर रात तक परिजनों का हंगामा चलता ही रहा।

अशोक कुमार वर्मा (Ashok Kumar Verma)  राज्य संपत्ति विभाग (State Property Department ) में ड्राइवर की नौकरी कर रहे थे। वह कुछ वक्त से बीमारी चलने की वजह से छुट्टी पर थे। एक सितंबर को उन्होंने नौकरी ज्वाइन की थी। अशोक वर्मा के दामाद ने बताया कि रविवार को अशोक कुमार वर्मा (Ashok Kumar Verma)  की तबीयत खराब हो गई थी। ऐसे में उन्होंने मोटर इंचार्ज अंबरीश श्रीवास्तव (Motor Incharge Ambareesh Srivastava) को फोन करके छुट्टी मांगी। इसके बाद परिजनों का आरोप है कि छुट्टी तो उन्होंने दी नहीं बल्कि ड्यूटी पर नहीं आने पर सस्पेंड कराने तक की धमकी दे डाली। ऐसे में अशोक वर्मा मजबूरी में आकर नौकरी पर चले गए। जब वो मंत्री सुरेश राणा को एयरपोर्ट पर छोड़ने के लिए जा रहे थे तभी उनकी रास्ते में तबियत ज्यादा खराब हो गई।

ऐसे में विभाग की ओर से दूसरे ड्राइवर को मंत्री के साथ भेज दिया गया। बाद में अशोक वर्मा के साथी कर्मचारी रामशंकर उन्हें लेकर सिविल अस्पताल में पहुंचे, जहां पर डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। यहां परिवार के लोग मोटर इंचार्ज पर मुकदमा दर्ज होने पर ही शव ले जाने की जिद्द करते हुए देर रात तक अड़े रहे।

हज़रतगंज के एसीपी राघवेंद्र मिश्र (Hazratganj ACP Raghavendra Mishra ) ने बताया कि अशोक कुमार वर्मा (Ashok Kumar Verma) की हार्ट अटैक से मौत हुई है। परिजनों ने हत्या का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है। उन्होंने बताया कि मामले की जांच कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। बॉडी को पोस्टमार्टम (post mortem ) के लिए भेज दिया गया है। जो भी कारण होंगे उसके हिसाब से आगे कार्रवाई की जाएगी।

पढ़ें :- Sonali Phogat Passes Away : टिकटॉक स्टार और बीजेपी नेता सोनाली फोगाट का हार्ट अटैक से निधन

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...