HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. जो लोग सत्ता और सरकार को एक परिवार की मुट्ठी में रखना चाहते हैं, संविधान उनकी आंखों में हमेशा खटकता है: पीएम मोदी

जो लोग सत्ता और सरकार को एक परिवार की मुट्ठी में रखना चाहते हैं, संविधान उनकी आंखों में हमेशा खटकता है: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा, मोदी इतने से ही संतुष्ट नहीं है। जो काम अभी तक हुआ है, वो तो सिर्फ ट्रेलर है। अभी हमें सीमांचल, बिहार और पूरे हिंदुस्तान को बहुत आगे लेकर जाना है। हमारी सरकार ने देश में संविधान दिवस मनाने की शुरुआत की। आज बाबा साहेब के संविधान को सेलिब्रेट करने के लिए बच्चों के स्कूलों से लेकर, सुप्रीम कोर्ट और संसद तक में कार्यक्रम किए जाते हैं।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Lok Sabha Elections 2024: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार बिहार के पूर्णिया में ​जनसभा को संबोधित किए। इस दौरान उन्होंने कहा कि, NDA सरकार की तीसरी पारी को लेकर पहले से भी ज्यादा उत्साह नजर आ रहा है। आपका ये उत्साह बता रहा है-फिर एक बार मोदी सरकार।विकसित भारत के लिए-4 जून, 400 पार! साथ ही कहा, एक समय था, जब केंद्र की सरकारें बिहार को पिछड़ा कहकर पीछा छुड़ा लेती थीं। बिहार की सरकारें, सीमांचल को पिछड़ा कहकर पल्ला झाड़ लेती थीं। लेकिन हमने सीमांचल और पूर्णिया के विकास को अपना मिशन बनाया है।

पढ़ें :- इंडी गठबंधन की मानसिकता ही महिला विरोधी है...पीएम मोदी का विपक्षी दलों पर निशाना

उन्होंने आगे कहा कि, बिहार और पूर्णिया के पास सामर्थ्य की कभी कमी नहीं थी। हमारे बिहार का किसान भरपूर मक्का उत्पादन करता है, यहां जूट और मखाने की खेती भी बहुत होती है।पिछले 10 वर्षों में हमने जूट की MSP को बढ़ाकर दोगुना किया है। बिहार का 20% मखाना अकेले पूर्णिया के किसान ही पैदा करते हैं। हमने आपके इस सामर्थ्य को प्रोत्साहन दिया। नतीजा ये हुआ कि आपने मखाना के seed production को करीब दोगुना कर दिया।

साथ ही कहा कि, आपके सपने ही मोदी का संकल्प हैं। इसलिए गांव, गरीब, दलित, वंचित, दशकों से जिन समस्याओं से जूझ रहे थे, मोदी ने 10 साल में उनका समाधान किया है। देश के 25 करोड़ लोग गरीबी से बाहर तब आए, जब हमने दिन-रात उनके लिए मेहनत की। देश के 4 करोड़ गरीबों को पीएम आवास तब मिला, जब आपने मोदी को सेवा करने का आशीर्वाद दिया।

पीएम मोदी ने कहा, मोदी इतने से ही संतुष्ट नहीं है। जो काम अभी तक हुआ है, वो तो सिर्फ ट्रेलर है। अभी हमें सीमांचल, बिहार और पूरे हिंदुस्तान को बहुत आगे लेकर जाना है। हमारी सरकार ने देश में संविधान दिवस मनाने की शुरुआत की। आज बाबा साहेब के संविधान को सेलिब्रेट करने के लिए बच्चों के स्कूलों से लेकर, सुप्रीम कोर्ट और संसद तक में कार्यक्रम किए जाते हैं। ये वर्ष तो बहुत विशेष है। इस साल संविधान के 75 वर्ष की शुरुआत हो रही है। जैसे हमने आजादी के 75 वर्ष पर आजादी का अमृत महोत्सव मनाया, इसी तरह इस वर्ष हमें संविधान के 75 वर्ष का पर्व मनाना है।

उन्होंने आगे कहा कि, दूसरी तरफ वो लोग हैं, जिन्होंने आपातकाल में संविधान को रद्द करने, संविधान को बंधक बनाने और संविधान को तोड़ने-मरोड़ने का काम किया था। जो लोग सत्ता और सरकार को एक परिवार की मुट्ठी में रखना चाहते हैं, संविधान उनकी आंखों में हमेशा खटकता है। इसलिए अब ये लोग संवैधानिक व्यवस्था से हुए चुनाव के नतीजों को अस्वीकार करने की धमकी देने लगे हैं। लेकिन इनके मंसूबे कामयाब न हों, इसके लिए हमें एकजुट होकर साथ खड़े रहना है।

पढ़ें :- नरेंद्र मोदी आदिवासी समाज से करते हैं नफ़रत , ये बीजेपी वाले अब ख़ुद को भगवान से भी बड़ा समझने लग गये हैं : अरविंद केजरीवाल

पीएम मोदी ने कहा, वोटबैंक की राजनीति करने वालों ने पूर्णिया और सीमांचल को अवैध घुसपैठ का ठिकाना बनाकर, यहां की सुरक्षा को दांव पर लगाया है। इसका शिकार हमारे दलित, वंचित, पिछड़े और गरीब को होना पड़ा है। हमारे दलित भाइयों के घरों तक को जलाया गया था। लेकिन मैं आपको आश्वासन देने चाहता हूं कि देश की सुरक्षा से खिलवाड़ करने वाला हर तत्व सरकार की नजर में है। 4 जून के परिणाम इसी सीमांचल की सुरक्षा तय करेगा। और जो लोग राजनीतिक फायदे के लिए CAA का विरोध कर रहे हैं, वो भी एक बात जान लें-ये मोदी है, ये न डरने वाला है और न ही झुकने वाला है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...