1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मेरठ में कोरोना से मचा हाहाकार, योगी के मंत्री ने पत्र लिखकर मरीजों का जीवन बचाने की लगाई गुहार

मेरठ में कोरोना से मचा हाहाकार, योगी के मंत्री ने पत्र लिखकर मरीजों का जीवन बचाने की लगाई गुहार

अध्यक्ष व राज्यमंत्री श्रम कल्याण परिषद सुनील भराला ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर कोरोना महामारी की भयावहता से अवगत कराया है। उन्होंने इस पत्र के माध्यम से सीएम योगी को कोरोना सक्रमण की द्वितीय लहर से उत्पन्न जनपद मेरठ की हदय विदारक व भयावह स्थिति की ओर आपका ध्यान आकृष्ट करना चाहता हूं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

There Was An Outcry From Corona In Meerut Yogis Minister Urged To Save The Lives Of Patients By Writing Letters

मेरठ। अध्यक्ष व राज्यमंत्री श्रम कल्याण परिषद सुनील भराला ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर कोरोना महामारी की भयावहता से अवगत कराया है। उन्होंने इस पत्र के माध्यम से सीएम योगी को कोरोना सक्रमण की द्वितीय लहर से उत्पन्न जनपद मेरठ की हदय विदारक व भयावह स्थिति की ओर आपका ध्यान आकृष्ट करना चाहता हूं।योगी के मंत्री के इस पत्र के बाद सरकार के सारे दावे हवा—हवाई साबित हो गए है। जबकि सरकार के तरफ से आक्सीजन आपूर्ति, दवाओं व चिकित्सा व्यवस्था दुरुस्त होने का दावा किया जा रहा है।

पढ़ें :- राम मंदिर के लिए खरीदी जमीन मिनटों में 2 करोड़ से साढ़े 18 करोड़ कैसे हुई? सीएम योगी CBI व ED से कराएं जांच

इस पत्र के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद योगी सरकार की कलई खुल गई है। पत्र में भराला ने लिखा है कि यूपी के मेरठ जिले में प्रतिदिन लगभग 1500 व्यक्ति कोरोना संक्रमण का शिकार हो रहे है, जबकि यहां के अस्पतालों से दैनिक रूप से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों की संख्या दैनिक सक्रमित व्यक्तियों के 50 प्रतिशत से भी कम है। परिणामस्वरुप मेरठ में 1100 से अधिक सक्रिय मरीज मौजूद है। इतने अधिक संख्या में सक्रिय मरीजों हेत मेरठ के सरकारी व निजी अस्पतालों में बेड ,आक्सीजन व रेमिडीसिविर जैसे आवश्यक प्राणरक्षक दवाओ की बहुत बड़ी कमी महसूस हो रही है। जिसके कारण अब तक लगभग 500 मरीजों की मृत्यु हो चुकी है।

पढ़ें :- कोरोना वायरस के 'डेल्टा वेरिएंट' ने दुनिया में बढ़ाई दहशत, कई देशों में लौटी पाबंदी और लॉकडाउन

आपसे अनुरोध है कि उपरोक्त विषम परिस्थितियों पर तत्काल व्यक्तिगत ध्यान देने का कष्ट करें। मेरठ के अस्पतालों में अतिरिक्त आक्सीजन आपूर्ति, बेड की व्यवस्था व आवश्यक जीवन रक्षक दवाओं की आपूर्ति हेतु आवश्यक निर्देश देने का कष्ट करें|

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X