1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. काबुल में TOLO News के रिपोर्टर की तालिबान ने की हत्या , सभी को सुरक्षा का दावा निकला खोखला

काबुल में TOLO News के रिपोर्टर की तालिबान ने की हत्या , सभी को सुरक्षा का दावा निकला खोखला

अफगानिस्तान (Afghanistan) में तख्ता पलट के बाद तालिबान (Taliban) सभी को सुरक्षित माहौल देने। इसके साथ ही सभी को सार्वजनिक माफी देते हुए काम पर लौटने की अपील की थी।ताजा जानकारी के मुताबिक तालिबान ने काबुल में टोलो न्यूज (TOLO News) के एक पत्रकार की हत्या कर दी है। बता दें कि इससे पहले तालिबानी आतंकवादियों ने पीटीआई न्यूज एजेंसी में काम करने वाले भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दीकी (Indian journalist Danish Siddiqui) को भी मार दिया था।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। अफगानिस्तान (Afghanistan) में तख्ता पलट के बाद तालिबान (Taliban) सभी को सुरक्षित माहौल देने। इसके साथ ही सभी को सार्वजनिक माफी देते हुए काम पर लौटने की अपील की थी।ताजा जानकारी के मुताबिक तालिबान ने काबुल में टोलो न्यूज (TOLO News) के एक पत्रकार की हत्या कर दी है। बता दें कि इससे पहले तालिबानी आतंकवादियों ने पीटीआई न्यूज एजेंसी में काम करने वाले भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दीकी (Indian journalist Danish Siddiqui) को भी मार दिया था।

पढ़ें :- Afghanistan: हेरात में तालिबान सदस्यों को ले जा रहे काफिले पर हमला, 20 से ज्यादा आतंकी जख्मी

टोलो न्यूज (TOLO news) के पत्रकार जियार याद ( Ziar Yad) ने बताया भी है कि किस तरह तालिबान पत्रकारों के साथ बुरा बर्ताव कर रहा है। जियार याद ( Ziar Yad) और उनके कैमरामेन साथी को तालिबान ने पीटा था। वे लोग अफगान में गरीबी और बेरोजगारी पर रिपोर्टिंग कर रहे थे। ये लोग काबुल में हाजी याकूब चौराहा के पास रिपोर्टिंग कर रहे थे। जियार ने बताया कि जब वे लोग फोटोज क्लिक कर रहे थे। तब तालिबान (Taliban)  के लोग उनके पास आए और उनका फोन छीन लिया। इसके बाद फिर दोनों को हथियारों से पीटा है।

पत्रकार संग बुरे बर्ताव के मामले पर पत्रकार संगठनों ने भी आपत्ति जताई है। कहा है कि जिस दिन से तालिबान (Taliban)  ने अफगानिस्तान (Afghanistan और काबुल पर नियंत्रण किया है, तब से पत्रकारों के साथ उनका व्यवहार चिंता का विषय रहा है। दूसरी तरफ, तालिबान के सांस्कृतिक आयोग के उप प्रमुख अहमदुल्ला वासीक ने कहा कि हमने इस मुद्दे को गंभीरता से लिया है। इस मामले को लेकर काबुल कमांडर (Kabul Commander) के साथ बातचीत की गई है।

बता दें कि अफगान (Afghan) पर कब्जे के बाद तालिबान (Taliban) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दुनिया भर की मीडिया के सामने कई वादे किए गए थे। इसमें से एक वादा यह भी था कि वह मीडिया को अफगान में आजादी के साथ काम करने देगा। लेकिन साथ ही साथ कहा था कि उन्हें ‘अफगान के कल्चर’ का सम्मान करना होगा। हालांकि, यह साफ नहीं किया गया था कि यहां अफगान के कल्चर से उनका मतलब क्या है?

पढ़ें :- Afghanistan earthquake damage : अफगानिस्तान में तबाही के निशान छोड़ गया भूकंप, 900 लोगों की जान गई, करीब 600 घायल हुए
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...