1. हिन्दी समाचार
  2. जीवन मंत्रा
  3. बढ़ते वायु प्रदूषण के बीच फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए आजमाएं ये 6 योगासन

बढ़ते वायु प्रदूषण के बीच फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए आजमाएं ये 6 योगासन

योग वायुमार्ग और नाक के मार्ग को साफ करके फेफड़ों के कार्य को बेहतर बनाने में मदद करता है। योग करने का सबसे अच्छा समय भोर का समय है।

By प्रीति कुमारी 
Updated Date

हर साल बढ़ते वायु प्रदूषण के स्तर के साथ, COVID-19 महामारी ने स्थिति को और खराब कर दिया है। पिछले साल से फेफड़ों के मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है, इसलिए फेफड़ों की सेहत पर ज्यादा ध्यान देना जरूरी हो जाता है। और योग से बेहतर क्या हो सकता है?

पढ़ें :- कुछ आदतो में सुधार कर रख सकते है किडनी का ध्यान, जानिये क्या है आदते

योग फेफड़ों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने, उन्हें मजबूत बनाने और तनाव को कम करने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है। योग वायुमार्ग और नाक के मार्ग को साफ करके फेफड़ों के कार्य को बेहतर बनाने में मदद करता है। योग करने का सबसे अच्छा समय भोर का समय है। इसलिए जैसे-जैसे प्रदूषण बढ़ रहा है, हम यहां कुछ योग आसनों के बारे में बता रहे हैं जो आपके फेफड़ों को स्वस्थ और मजबूत रखने में आपकी मदद करेंगे। नीचे एक नज़र डालें:

कपालभाती

– हाथों को घुटनों पर टिकाकर ध्यान मुद्रा में बैठ जाएं।

– पेट की मांसपेशियों के संकुचन के साथ दोनों नथुनों से श्वास लें।

पढ़ें :- Bhindi Water : भिंडी का पानी है चमत्कारी, इस तरह करेंगे सेवन तो रहेंगे निरोगी

– कुछ सेकेंड के बाद सांस छोड़ते हुए पेट की मांसपेशियों को आराम दें।

– इस एक्सरसाइज को कम से कम दो मिनट तक जारी रखें।

हस्त उत्तानासन

– समस्ती में सीधे खड़े हो जाएं और अपनी बाहों को अपने सिर के ऊपर उठाएं, यह सुनिश्चित करें कि आपकी हथेलियां एक दूसरे के सामने हों और आपस में जुड़ी हों।

– अब घुटनों को सीधा रखते हुए धीरे-धीरे पीछे की ओर झुकें।

पढ़ें :- जीरे के सेवन से ऐसे रखें अपनी सेहत का ख़्याल

– कुछ सेकंड के लिए रुकें और मूल स्थिति में वापस आ जाएं।

पादस्तासन:

– सीधे खड़े हो जाएं और अपने पैरों को कुछ इंच की दूरी पर रखें।

– अब अपने धड़ को थोड़ा सा मोड़ें।

– इसी पोजीशन में रहें और विपरीत कोहनियों को पकड़ते हुए हाथों को मोड़ें।

– अपने सिर और गर्दन को ढीला छोड़ दें।

पढ़ें :- Health Tips: डाइटिंग के समय सेहत के लिए क्या है बेस्ट रोटी या चावल ?

– इस मुद्रा में आराम करते हुए गहरी सांस लें।

धनुरासन:

– पेट के बल लेट जाएं और पैरों को हिप्स की तरफ मोड़ लें।

– अपनी एड़ियों को अपनी हथेलियों से पकड़ें, और फिर अपने हाथों और पैरों को जितना हो सके ऊपर उठाएं।

– जितना हो सके इस आसन को करने की कोशिश करें।

अनुलोम विलोम

– सीधी मुद्रा में बैठ जाएं और आंखें बंद कर लें।

पढ़ें :- Health Tips : बादाम में पाये जाते है कई पोषक तत्व , सेवन से सेहत को मिलता है फायदा

– कुछ गहरी सांस लें और अपने दाहिने हाथ की उंगलियों को विष्णु मुद्रा में नाक पर रखें

– अपने बाएं नथुने से श्वास लें, दाएं नथुने को पास रखें।

– इस एक्सरसाइज को बायीं ओर से दोहराएं।

चक्रासन

– पीठ के बल लेट जाएं और पैरों को मोड़ लें।

– अपने हाथों को अपने सिर के पास आसमान की ओर रखें।

-अब आर्च बनाते हुए धीरे-धीरे अपने शरीर को ऊपर की ओर उठाएं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...