1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Umesh Pal Murder Case : बमबाज गुड्डू मुस्लिम और शूटर साबिर का मकान पुलिस ने मुनादी कराकर की कुर्की

Umesh Pal Murder Case : बमबाज गुड्डू मुस्लिम और शूटर साबिर का मकान पुलिस ने मुनादी कराकर की कुर्की

प्रयागराज पुलिस ने उमेश पाल हत्याकांड (Umesh Pal Murder Case) में आरोपी और फरार चल रहे पांच लाख रुपये के इनामी बमबाज गुड्डू मुस्लिम (Guddu Muslim)   और शूटर साबिर (Shooter Sabir) का मकान शनिवार को कुर्क कर दिया। पुलिस ने मुनादी कराकर गुड्डू मुस्लिम (Guddu Muslim)  का चकिया के चकनिरातुल स्थित मकान और पुरामुफ्ती इलाके के बमरौली में मरियाडीह गांव स्थित मकान को कुर्क कर दिया।

By संतोष सिंह 
Updated Date

प्रयागराज। प्रयागराज पुलिस ने उमेश पाल हत्याकांड (Umesh Pal Murder Case) में आरोपी और फरार चल रहे पांच लाख रुपये के इनामी बमबाज गुड्डू मुस्लिम (Guddu Muslim)   और शूटर साबिर (Shooter Sabir) का मकान शनिवार को कुर्क कर दिया। पुलिस ने मुनादी कराकर गुड्डू मुस्लिम (Guddu Muslim)  का चकिया के चकनिरातुल स्थित मकान और पुरामुफ्ती इलाके के बमरौली में मरियाडीह गांव स्थित मकान को कुर्क कर दिया।

पढ़ें :- UP News: एक लाख के इनामी सद्दाम को STF ने किया गिरफ्तार, उमेश पाल हत्याकांड के बाद से था फरार

दोनों आरोपियों के ऊपर पांच-पांच लाख रुपये का इनाम है। उमेश पाल हत्याकांड (Umesh Pal Murder Case) के बाद से ही दोनों फरार चल रहे हैं। कोर्ट ने कुर्की के लिए आदेश जारी किया था। जिसके अनुपालन में शनिवार को पुलिस ने यह कार्रवाई की।

दो स्थानों पर है गुड्डू मुस्लिम का घर

उमेश पाल हत्याकांड (Umesh Pal Murder Case) के आरोपी गुड्डू मुस्लिम (Guddu Muslim)   का मकान शहर के दो स्थानों चकिया के चकनिरातुल और शिवकुटी इलाके के लाला की सराय में है। उमेश पाल की हत्या (Umesh Pal Murder) के बाद से ही दोनों घरों में ताला बंद है। पुलिस दोनों मकानों पर कुर्की की नोटिस चस्पा कर चुकी है। आठ अगस्त को दोनों के घरों पर नोटिस चस्पा किया गया था।

सील करने के बावजूद खुल गई थी बमबाज गड्डू मुस्लिम की दुकान

पढ़ें :- Umesh Pal Murder Case : अशरफ का साला सद्दाम गिरफ्तार,यूपी पुलिस ने घोषित कर रखा था एक लाख का इनाम

उमेश पाल हत्याकांड (Umesh Pal Murder Case)  के आरोपी और पांच लाख के इनामी गुड्डू मुस्लिम की चकिया तिराहे पर स्थित चिकन और मटन की दुकान बिना किसी अनुमति के खोल ली थी। प्रयागराज विकास प्राधिकरण (Prayagraj Development Authority) ने इस दुकान को सील करने के बाद इस पर ध्वस्तीकरण का नोटस चस्पा कर दिया था। बावजूद इसके दुकान को खोल लिया गया था। दो दिन तक दुकान पर मटन और चिकन की बिक्री भी धड़ल्ले से की गई। बाद में पता चलने पर आनन फानन दुकान को बंद कराकर फिर नोटिस चस्पा किया गया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...