1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. यूपी कोरोना के एक्टिव केसों की संख्या 211 पहुंची, तो योगी सरकार हुई चौकन्नी

यूपी कोरोना के एक्टिव केसों की संख्या 211 पहुंची, तो योगी सरकार हुई चौकन्नी

कोरोना के ओमिक्रॉन (Omicron) वैरिएंट से एक बार फिर दुनिया में दहशत पैदा कर दी है। इसके बीच एक बार फिर यूपी (UP) में कोरोना के मामले बढ़े देखे जा रहें हैं। उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस (Corona Virus) के 23 नए मामले सामने आए हैं, जिससे एक बार फिर योगी सरकार हरकत में आ गई है। इसको देखते हुए योगी सरकार (Yogi Government) ने अस्पतालों में बेडों की संख्या दोगुने करने के निर्देश दिए हैं। फिलहाल यूपी में कोरोना वायरस (Corona Virus) के एक्टिव केसों की संख्या 211 है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। कोरोना के ओमिक्रॉन (Omicron) वैरिएंट से एक बार फिर दुनिया में दहशत पैदा कर दी है। इसके बीच एक बार फिर यूपी (UP) में कोरोना के मामले बढ़े देखे जा रहें हैं। उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस (Corona Virus) के 23 नए मामले सामने आए हैं, जिससे एक बार फिर योगी सरकार हरकत में आ गई है। इसको देखते हुए योगी सरकार (Yogi Government) ने अस्पतालों में बेडों की संख्या दोगुने करने के निर्देश दिए हैं। फिलहाल यूपी में कोरोना वायरस (Corona Virus) के एक्टिव केसों की संख्या 211 है।

पढ़ें :- नौतनवा:ब्लाक प्रमुख ने आरसीसी सड़क के लिए किया भूमि पूजन

इसको लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने अपने सरकारी आवास पर कोविड-19 की स्थिति को लेकर एक समीक्षा बैठक की। इस बैठक के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath)  ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि बुंदेलखंड क्षेत्र के झांसी, चित्रकूट, महोबा आदि जिलों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं। इतना ही नहीं, योगी ने इन जिलों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधा के लिए सरकारी अस्पतालों में बेडों की संख्या 100 से 200 करने के आदेश दिए।

सीएम योगी (CM Yogi ) ने कहा कि कोरोना प्रोटोकॉल (Corona Protocol)का पूरी तरह से पालन होना चाहिए। साथ ही संक्रमण से बचाव और उपचार की व्यवस्थाओं को बेहतर किया जाना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने उत्तर प्रदेश में शीतलहर को देखते हुए रैन बसेरों को बेहतर तरीके से चलाए जाने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया कि कोई भी खुले में न सोने पाए। उन्होंने इसके लिए पुलिस और प्रशासन को विशेष तौर पर रैन बसेरों का ध्यान रखने को कहा है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...