1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. Uttarakhand Assembly Election 2022 : बीजेपी 10 से 15 मौजूदा विधायकों का काट सकती है पत्ता

Uttarakhand Assembly Election 2022 : बीजेपी 10 से 15 मौजूदा विधायकों का काट सकती है पत्ता

Uttarakhand Assembly Election 2022 : उत्तराखंड विधानसभा चुनाव (Uttarakhand Election 2022) के लिए 14 फरवरी को वोटिंग होनी है। प्रदेश में सत्ताधारी बीजेपी (BJP) नेतृत्व ने सारी 70 सीटों पर प्रत्याशियों के नाम चुनाव समिति को सौंप दे दिए हैं। इस पर अब दिल्ली में बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व मंथन करेगा। पार्टी सूत्रों की मानें तो सबसे पहले 28 सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा कर सकती है। हालांकि राज्य की 25 सीटों पर फिलहाल पेंच फंसा हुआ है, जिस पर केंद्रीय नेतृ्त्व मंथन करके अंतिम फैसला लेगा। सूत्रों के मुताबिक, पार्टी 10 से 15 मौजूदा विधायकों के टिकट काट सकती है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Uttarakhand Assembly Election 2022 : उत्तराखंड विधानसभा चुनाव (Uttarakhand Election 2022) के लिए 14 फरवरी को वोटिंग होनी है। प्रदेश में सत्ताधारी बीजेपी (BJP) नेतृत्व ने सारी 70 सीटों पर प्रत्याशियों के नाम चुनाव समिति को सौंप दे दिए हैं। इस पर अब दिल्ली में बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व मंथन करेगा। पार्टी सूत्रों की मानें तो सबसे पहले 28 सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा कर सकती है। हालांकि राज्य की 25 सीटों पर फिलहाल पेंच फंसा हुआ है, जिस पर केंद्रीय नेतृ्त्व मंथन करके अंतिम फैसला लेगा। सूत्रों के मुताबिक, पार्टी 10 से 15 मौजूदा विधायकों के टिकट काट सकती है।

पढ़ें :- बजट पर बोले Akhilesh Yadav, क्या सरकार बताएगी किसानों की आय दोगुनी कब होगी? यह बजट नहीं है बंटवारा

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव (Uttarakhand Election 2022) में 28 सीटों पर बीजेपी के पास केवल एक ही स्पष्ट दावेदार है। उनके नाम की जल्द ही घोषणा हो सकती है, जबिक अन्य सीटों पर एक से अधिक नेता दावेदारी ठोंक रहे हैं। ऐसे में आगामी 19 जनवरी को दिल्ली में होने वाली पार्टी के केंद्रीय संसदीय बोर्ड की बैठक में इन सीटों पर अंतिम फैसला लिया जाएगा।

उत्तराखंड बीजेपी से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, बीजेपी संसदीय बोर्ड इस बैठक में पौड़ी, कोटद्वार, थराली, कर्णप्रयाग, घनसाली, प्रतापनगर, टिहरी, झबरेड़ा, लक्सर, पिरान कलियर, राजपुर रोड, चम्पावत, लोहाघाट, नैनीताल, हल्द्वानी, रामनगर, जागेश्वर, अल्मोड़ा, रानीखेत, द्वारहाट, गंगोलीहाट, बाजपुर, काशीपुर, रुद्रपुर और गंगोत्री सीट को लेकर मंथन करेगा। सूत्रों की मानें तो पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के भी डोईवाला सीट से चुनाव लड़ने को लेकर स्थिति साफ नहीं है। केंद्रीय नेतृत्व ही इस आगामी बैठक में इस फैसला करेगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...