1. हिन्दी समाचार
  2. टेलीविजन
  3. इंडस्ट्री में शोक की लहर : लाइव कॉन्सर्ट में अचानक बेहोश होकर गिरा सिंगर, हुआ निधन, देखें Viral Video

इंडस्ट्री में शोक की लहर : लाइव कॉन्सर्ट में अचानक बेहोश होकर गिरा सिंगर, हुआ निधन, देखें Viral Video

संगीत जगत का लोकप्रिय चेहरा अब इस दुनिया में नहीं रहा। स्टेज पर लाइव परफॉर्मेंस के दौरान ही निधन हो गया है। इससे मनोरंजन जगत को बड़ा झटका लगा है।मलयालम संगीत के लोकप्रिय चेहरा और 78 वर्षीय वयोवृद्ध गायक एडवा बशीर का स्टेज पर लाइव परफॉर्मेंस के दौरान ही निधन हो गया है। केरल के अलाप्पुझा में ब्लू डायमंड ऑर्केस्ट्रा मंडली के स्वर्ण जयंती के मौके पर वो एक कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे थे।

By संतोष सिंह 
Updated Date

कोच्चि। संगीत जगत का लोकप्रिय चेहरा अब इस दुनिया में नहीं रहा। स्टेज पर लाइव परफॉर्मेंस के दौरान ही निधन हो गया है। इससे मनोरंजन जगत को बड़ा झटका लगा है।मलयालम संगीत (Malayalam Music) के लोकप्रिय चेहरा और 78 वर्षीय वयोवृद्ध गायक एडवा बशीर (Singer Edwa Bashir) का स्टेज पर लाइव परफॉर्मेंस के दौरान ही निधन हो गया है। केरल के अलाप्पुझा में ब्लू डायमंड ऑर्केस्ट्रा मंडली (Blue Diamond Orchestra Troupe) के स्वर्ण जयंती के मौके पर वो एक कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे थे। इसी दौरान वह गाते हुए मंच पर गिर पड़े। गिरने के बाद उन्हें चेरथला के एक निजी अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उनकी जान नहीं बचाई जा सकी। बता दें कि वह तिरुवनंतपुरम में एडवा के मूल निवासी हैं।

पढ़ें :- Taylor Hawkins passed away: मशहूर ड्रमर ने दुनिया को कहा अलविदा, इंडस्ट्री में शोक की लहर

ये घटना रात साढ़े नौ बजे की है। वो इस कार्यक्रम में चीफ गेस्ट के तौर पर पहुंचे थे। उन्होंने स्टेज पर येसुदास का गीत- माना हो तुम बहुत हसीन गाया। गीत खत्म होते ही वो बेहोश हो कर गिर गए। तुरंत इस कार्यक्रम को बंद कर दिया गया। सोशल मीडिया पर इस घटना का वीडियो भी वायरल हो रहा है।

पढ़ें :- Ramesh Dev passed away: दिग्गज एक्टर रमेश देव का हार्ट अटैक से निधन, इंडस्ट्री में शोक की लहर

तिरुवनंतपुरम के एडवा में जन्मे बशीर ने कई फिल्मी गाने गाए थे, लेकिन उन्हें उनके स्टेज परफॉर्मेंस के लिए जाना जाता था। उन्होंने स्वाति थिरुनल संगीत अकादमी (Swathi Thirunal Music Academy) से संगीत में शैक्षणिक डिग्री ली थी। 1972 में, उन्होंने कोल्लम संगीतालय गणमेला मंडली (kollam sangeetalaya ganmela troupe) का गठन किया था।

बशीर ने येसुदास और रफी के गीतों को सुनकर अपनी ट्रेनिंग शुरू की। उन्होंने स्कूल और कॉलेज में कई पुरस्कार जीते। बशीर और उनके दोस्तों ने ऑल केरल म्यूजिशियन एंड टेक्नीशियन एसोसिएशन (All Kerala Musicians and Technicians Association) की शुरुआत की। वो लंबे समय तक एसोसिएशन के अध्यक्ष रहे। उन्होंने फिल्म उद्योग में ‘वीना वायिकुम’ गाने से डेब्यू किया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...