1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. आप सांसद राघव चड्ढा के सदन में वापसी का रास्ता साफ, राज्यसभा विशेषाधिकार समिति ने निलंबन किया रद्द

आप सांसद राघव चड्ढा के सदन में वापसी का रास्ता साफ, राज्यसभा विशेषाधिकार समिति ने निलंबन किया रद्द

आम आदमी पार्टी (AAP) के सांसद राघव चड्ढा (MP Raghav Chadha) के निलंबन के मुद्दे पर राज्यसभा की विशेषाधिकार समिति (Privileges Committee Cancels Suspension) की सोमवार को संसद में बैठक हुई। इस दौरान सभापति जगदीप धनखड़ (Chairman Jagdeep Dhankhar) ने चड्ढा को सदन में लौटने की अनुमति दे दी।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (AAP) के सांसद राघव चड्ढा (MP Raghav Chadha) के निलंबन के मुद्दे पर राज्यसभा की विशेषाधिकार समिति (Privileges Committee Cancels Suspension) की सोमवार को संसद में बैठक हुई। इस दौरान सभापति जगदीप धनखड़ (Chairman Jagdeep Dhankhar) ने चड्ढा को सदन में लौटने की अनुमति दे दी।

पढ़ें :- Rajya Sabha Elections 2024 : अखिलेश यादव को बड़ा झटका, सीएम योगी से मिले सपा के 5 बागी विधायक

सभापति जगदीप धनखड़ ने बताया कि भाजपा सांसद जीवीएल नरसिम्हा राव (BJP MP GVL Narasimha Rao) द्वारा पेश किए गए प्रस्ताव पर आप सांसद राघव चड्ढा (AAP MP Raghav Chadha)का निलंबन रद्द कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि विशेषाधिकार समिति (Privileges Committee) ने आप सांसद के निलंबन की अवधि को पर्याप्त पाया।

 

सांसद ने जताई खुशी

निलंबन आदेश को वापस लेने पर आप सांसद राघव चड्ढा (MP Raghav Chadha)  ने कहा कि 11 अगस्त को मुझे राज्यसभा से निलंबित कर दिया गया था। मैं अपना निलंबन वापस लेने के लिए सुप्रीम कोर्ट गया था। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने इस पर संज्ञान लिया और अब 115 दिनों के बाद मेरा निलंबन रद्द कर दिया गया है। मैं खुश हूं कि मेरा निलंबन वापस ले लिया गया। मैं सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court)  और राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ (Chairman Jagdeep Dhankhar)को धन्यवाद देना चाहता हूं।’

क्या है राघव चड्ढा का मामला?

पढ़ें :- Rajya Sabha Elections: सपा ने राज्यसभा के लिए जया बच्चन समेत इनको बनाया प्रत्याशी, अखिलेश-शिवपाल की मौजूदगी में दाखिल किया नामांकन

राज्यसभा में बीते 11 अगस्त को सदन के नेता पीयूष गोयल ने एक प्रस्ताव पेश किया था। प्रस्तावित चयन समिति में कुछ सदस्यों के नाम उनकी सहमति के बिना शामिल करने के लिए आप नेता राघव के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई थी। राज्यसभा से प्रस्ताव पारित होने के बाद चड्ढा को विशेषाधिकार समिति (Privileges Committee)  की रिपोर्ट लंबित रहने तक “नियमों के घोर उल्लंघन, कदाचार, उद्दंड रवैया और अवमाननापूर्ण आचरण” के लिए मानसून सत्र के आखिरी दिन निलंबित कर दिया गया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...