1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. नए कृषि कानूनों से सबसे ज्यादा नुकसान मध्यप्रदेश के गेहूं उत्पादक किसानों को होगा: कलनाथ

नए कृषि कानूनों से सबसे ज्यादा नुकसान मध्यप्रदेश के गेहूं उत्पादक किसानों को होगा: कलनाथ

By शिव मौर्या 
Updated Date

Wheat Producing Farmers Of Madhya Pradesh Will Be The Biggest Losers Due To New Agricultural Laws Kalnath

भोपाल। मध्य प्रदेश आज गेहूं उत्पादन में देशभर में शीर्ष पायदान पर है और पंजाब को पहले ही पीछे छोड़ चुका है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने तीन नये कृषि कानूनों को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने इन कानूनों को लेकर ये कहा है कि तीनो नये कानूनों से सबसे ज्यादा नुकसान मध्यप्रदेश के किसानों को होगा। खासकर उन किसानों को जो गेहूं का उत्पादन करते है।

पढ़ें :- कोरोना संकट के बीच एक और आफत: मध्यप्रदेश के शहाडोल में भूकंप के झटके, घरों से बाहर निकले लोग

उन्होंने कहा कि नए कृषि कानूनों से औने-पौने दामों पर गेहूं की निजी खरीद को बढ़ावा मिलेगा, जिससे किसानों को सरकार का घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य नसीब नहीं हो सकेगा। कमलनाथ ने यह दावा किया कि नए कानूनों के अमल में आने के बाद ठेका खेती करने वाले किसान बड़े उद्योगपतियों के “बंधुआ मजदूर” बनकर रह जाएंगे।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...