HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. सेहत
  3. World Hypertension Day: खराब जीवनशैली और फास्ट फूड, अनहेल्दी डाइट है हाइपरटेंशन का प्रमुख कारण- डॉ विकास कुमार

World Hypertension Day: खराब जीवनशैली और फास्ट फूड, अनहेल्दी डाइट है हाइपरटेंशन का प्रमुख कारण- डॉ विकास कुमार

आज 17 मई को पूरी दुनिया में वर्ड हाइपरटेंशन डे मनाया जा रहा है। जब किसी व्यक्ति को ब्लड वेसल्स में प्रेशर सामान्य से अधिक हो जाता है, तब इसे हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन कहा जाता है। यह एक गंभीर बीमारी है इसलिए बीपी की जांच और इसे कंट्रोल करना बहुत जरुरी है।

By प्रिन्सी साहू 
Updated Date

आज 17 मई को पूरी दुनिया में वर्ड हाइपरटेंशन डे मनाया जा रहा है। जब किसी व्यक्ति को ब्लड वेसल्स में प्रेशर सामान्य से अधिक हो जाता है, तब इसे हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन कहा जाता है। यह एक गंभीर बीमारी है इसलिए बीपी की जांच और इसे कंट्रोल करना बहुत जरुरी है।

पढ़ें :- Healthy Food: मॉर्निंग ब्रेकफास्ट में इस तरह से ओट्स खाने से शरीर को होते हैं ये गजब के फायदे

अगर हेल्थ एक्सपर्ट की माने तो डॉ विकास कुमार के अनुसार ब्लड प्रेशर कंट्रोल न हो तो इससे ब्रेन स्ट्रोक, लकवा, हार्ट फेलियर, देखने में दिक्कत और किडनी फेलियर का खतरा हो सकता है। युवाओं में हाइपरटेंशन की समस्या अधिक बढ़ रही है।

डॉ विकास कुमार के अनुसार किसी व्यक्ति का नार्मल बीपी नॉर्मल ब्लड प्रेशर 120/80, बॉर्डरलाइन 120-129/<80,हाइपरटेंशन स्टेज वन में 130-139/80-89 और हाइपरटेंशन की दूसरी स्टेज में बीपी >140/>90 पहुंच जाता है। जबकि हाइपोटेंशन / लो बी पी <90/<60 होता है।

हाइपोटेंशन के लक्षण

हाई ब्लड प्रेशर होने पर व्यक्ति को सिर दर्द, नाक से खून आना, देखने में दिक्कत, हार्ट रेट का बढना, सीने में दर्द और कानों में भनभनाहट की आवाज सुनाई देना है।इसके इसके अलावा उल्टी और मांसपेशियों में कंपन्न होने की दिक्कत होती है।

पढ़ें :- Benefits of apple cider vinegar: ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मदद करता है सेब का सिरका

हाइपरटेंशन होने के प्रमुख कारण –

अधिक धूम्रपान और अल्कोहल का सेवन करने की वजह से हाइपरटेंशन की दिक्कत होती है। इसके अलावा अनियमित जीवन शैली और कुछ भी अनाप शनाप खा लेने की आदत भी इसका मुख्य कारण है। फास्ट फूड, अनहेल्दी डाइट ,सेडेंटरी लाइफ़स्टाइल( एक्सरसाइज के कमी) के कारण मोटापा और कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना जो हाइपरटेंशन के रिस्क को बढ़ाता है। अत्यधिक स्ट्रेस और तनाव की वजह से भी हाइपरटेंशन होने लगती है।

हाइपरटेंशन से बचाने के उपाय

1. कम सोडियम/नमक लें जो स्टेज 1 उच्च रक्तचाप में बेहद मददगार है।लगभग 3-6 पॉइंट रक्तचाप को कम करता है।
2. वजन कम करें और इसे बनाए रखें। लगभग 20 पौंड वजन में कमी से रक्तचाप को लगभग 10 से 20 पॉइंट तक कम किया जा सकता है।
3.अल्कोहल का सेवन कम करें- इससे ब्लड प्रेशर में 2–4 mmHg की कमी पाया गया है।
4.योग, प्राणायाम और व्यायाम जैसे एक्सरसाइज को नियमित रूप से करें। इसने रक्तचाप 5 से 8 मिमी एचजी तक कम होता है।
5. धूम्रपान छोड़ना- दोनों सिस्टोलिक और डायस्टोलिक उच्च रक्तचाप की सीमा को कम करने पर बड़ा प्रभाव डालता है।
6. स्ट्रेस/ तनाव कम लें।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...